QRG Central Hospital में भी बदले जाने लगे घुटने

फरीदाबाद 14 November 2016: अगर आप घूटनों के दर्द के चलते सीधे तौर पर चल नहीं पाते हैं या फिर घुटनों में काफी हद तक टेढ़ापन है तो अब इससे घबराने की जरूरत नहीं है। शहर के क्यूआरजी सेंट्रल अस्पताल में ऐसा एक उदाहरण सामने आया है। जहां आर्थोस्कोपी एवं जॉइंट रिप्लेसमेन्ट सर्जन, वरिष्ठ विशेषज्ञ डॉक्टर राजीव गुप्ता ने एनआईटी में रहने वाले 70 वर्षीय बुजुर्ग बलदेव सिंह के घुटने बदलने का सफल ऑपरेशन ( जॉइंट रिप्लेसमेंट सर्जरी )  करके एक मिशाल कायम की है। इसके बाद से बुजुर्ग बलदेव सिंह जहां चलने फिरने लगे हैं, वहीं पैरों का टेढ़ापन भी दूर हो गया है। 


> डाॉक्टर राजीव गुप्ता की टीम ने जर्मन टेक्नोलॉजी से ( Deep Dish Anatomical Knee Replacement)  किया। जर्मन टेक्नोलोजी से घुटने बदलने के इस सफल ऑपरेशन के कुछ दिन बाद ही बुजुर्ग बलदेव सिंह सही से चलने लग गये हैं। उन्होंने सबसे पहले वार्ड का एक चक्कर लगाया। अब वह पहले की तरह जहां सीधे चलने फिरने लगे हैं, वहीं पैरों का टेढ़ापन भी दूर हो गया है। घुटनों के बदलने से बलदेव सिंह अब बेहद खुश हैं। बलदेव सिंह कहते हैं कि घुटनों के जोड़े बदलने के बाद अब उन्हें  एक नई जिंदगी मिल गई है। सफल ऑपरेशन को लेकर बुजुर्ग व परिजनों ने हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉक्टर राजीव गुप्ता व अस्पताल प्रबंधन का आभार जताया है। इस ऑपरेशन के बाद डॉक्टर राजीव गुप्ता को बधाई देने वालों का तांता लगा रहा।  सफल ऑपरेशन से गदगद डॉक्टर राजीव गुप्ता ने बताया कि यह एडवांस जर्मन टेक्नोलोजी है। इससे ऑपरेशन के बाद घुटनों का ज्वाइंट पहले की तरह नॉर्मल की तरह काम करने लगता है। नई टेक्नोलोजी के इस इस्तेमाल से घुटनों की लाइफ भी दूसरे से ज्यादा होती है। शहर के इस अस्पताल में इस ऑपरेशन के बाद अब शहरवासियों को एनसीआर के अस्पतालों में जाने की जरूरत नहीं है।


गौरतलब है कि अब दिल्ली एनसीआर मे भी घटनों का ऑपरेशन खिफायति दरों पर हो सकता है। डॉक्टर राजीव गुप्ता के मुताबिक इससे पहले भी ओर कई मरीज इस ऑपरेशन का लाभ उठा सकते हैं।