अनाथ हो गए वो बेटे जो भारत के टुकड़े करवाने के नारे लगाते थे

Gauri Lankesh murder LIVE updates:

नई दिल्ली: हिंदुत्ववादी राजनीति के खिलाफ खुलकर विचार जाहिर करने वाली वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश की कल रात बेंगलुरू में उनके घर पर अज्ञात हमलावरों ने गोली मारकर हत्या कर दी। आज शाम उनका अंतिम संस्कार किया गया। लंकेश कन्नड़ टैबलॉयड ‘गौरी लंकेश पत्रिका’ का संपादन करती थीं। इसके अलावा कुछ दूसरे प्रकाशन की भी मालकिन थीं। कर्नाटक सरकार ने गौरी लंकेश की हत्या की जांच के लिए विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया है, जो कि हत्‍याकांड की जांच कर रही है। देश में आज पत्रकारों ने इस हत्याकांड को लेकर प्रदर्शन किया और ज्ञापन सौंपे। कांग्रेस इस ह्त्या का जिम्मेदार आरएसएस को बता रही है जबकि भाजपा कर्नाटक के मुख्यमंत्री का स्तीफा मांग रही है। एक महिला पत्रकार की इस तरह से हत्या हुई इसकी जितनी निंदा की जाए कम होगी लेकिन इस हत्या पर आंसूं बहाने वाले अधिकतर एक गुट के देखे जा रहे हैं जिस कारण लंकेश की हत्या पर कई बड़े सवाल भी उठने लगे हैं। सेना को रेपिस्ट बताने वालों को ये अपना बेटा मानतीं थीं, भारत तेरे टुकड़े होंगे का नारा लगाने वालों को ये अपना बेटा मानती थीं जबकि आजादी के बाद अब तक भारत को बचाने में लाखों जवान देश के लिए शहीद हो गए, उनके बच्चे अनाथ हो गए, उनके बच्चों का दर्द कभी नहीं समझा लंकेश ने और जवानों को रेपिस्ट बताने वालों को अपना बेटा बता दिया। लंकेश का कहना था कि हिन्दू धर्म कोई धर्म नहीं होता, अच्छी बात नहीं थी देश के अस्सी फीसदी लोगों की भावनाओं से ऐसा खिलवाड़ करते हुए मैडम ने ज़रा भी नहीं सोंचा।

मैडम एक पत्रकार थीं और उनके हत्या से काफी दुःख हुआ लेकिन जब पता चला कि मैडम भारत तेरे टुकड़े होंगे कहने वालों की माँ हैं तो वो दुःख छु मंतर हो गया क्यू कि देश को आजादी ऐसे ही नहीं मिली है, देश के हजारों युवाओं ने कुर्बानी देकर ये आजादी दिलाई है और सेना एवं पुलिस के जवान अब भी लगभग हर तीसरे दिन कुर्बानी देते रहते हैं ऐसे में इन मैडम का उनको सपोर्ट करना जो सेना एवं पुलिस के शहीद होने के कारण हैं, कम से कम मुझे तो अच्छा नहीं लगा क्यू कि मुझे अपना देश प्यारा है देश के रास्ते में कोई अपना भी अड़ंगा लगाएगा तो देश से बढ़कर वो मेरे लिए कुछ नहीं होगा। देश का एक टीवी चैनल एनडीटीवी और उसका पत्रकार रवीश कुमार, उमर खालिद जिसने भारत तेरे टुकड़े होंगे का नारा लगाया था, देश द्रोह का आरोपी कन्हैया, उसकी साथी राणा अयूब, शेयला राशिद सब इस मौत पर विलाप कर रहे हैं। सोशल मीडिया पर कई अजीब बातें लिखीं जा रहीं हैं, जैसे कि मर गई माँ, लावारिश हो गए भारत के टुकड़े करने वाले, आगे कल।

loading...

Leave a Reply

*