अनिल विज माफी मागें वर्ना खेलों को मेरी चौखट पर रगड़नी पड़ेगी नाक, चौटाला

Chandigarh: हरियाणा ओलंपिक संघ के चुनावों को लेकर बड़ा बखेड़ा खड़ा हो गया है। खेल संघ के चुनावों को लेकर प्रदेश की सियासत गरमा गई है। संघ के नवनिर्वाचित अध्यक्ष एवं विधानसभा में विपक्ष के नेता अभय सिंह चौटाला और खेल एवं युवा मामले मंत्री अनिल विज इस मामले में आमने-सामने आ डटे हैं। विज द्वारा संघ चुनावों को गैर-कानूनी बताए जाने पर तीखा हमला बोलते हुए अभय ने कहा ‘राष्ट्रीय खेलों के लिए मेरी चौखट पर आकर नाक रगड़नी होगी। जब तक विज सार्वजनिक तौर पर माफी नहीं मांगते, खेल नहीं होंगे’।

वहीं खेल मंत्री अनिल विज ने अपनी जवाबी हमले में फिर से दोहराया कि ओलंपिक संघ के चुनाव पूरी तरह से गैर-कानूनी हैं और हरियाणा सरकार उन्हें मान्यता नहीं देती। विज ने यहां तक कह दिया कि अभय चौटाला ओलंपिक संघ के स्वयंभू प्रधान हैं। बृहस्पतिवार को चंडीगढ़ में मीडिया से रूबरू हुए अभय ने कहा कि हरियाणा ओलंपिक संघ को मुख्यमंत्री या अनिल विज से सर्टिफिकेट या मान्यता लेने की जरूरत ही नहीं है। दोनों नेताओं के इस विवाद के बीच हरियाणा को मिलने वाली राष्ट्रीय खेलों की मेजबानी पर संकट के बादल गहरा सकते हैं।