हुड्डा, तंवर गुटों को खुश करने का प्रयास, विकास चौधरी को मिली अहम् जिम्मेदारी

Chandigarh: हरियाणा कांग्रेस में चल रही गुटबाजी के बीच पार्टी हाईकमान ने राज्य कांग्रेस के दोनों गुटों  हुड्डा व तंवर को एक मंच पर लाने की कवायद शुरू कर दी है। देश की पहली महिला प्रधानमंत्री स्व. इंदिरा गांधी की 100 जयंती के बहाने कांग्रेस नेतृत्व ने इन दोनों गुटों को खुश करने की कोशिश की है। अगले एक वर्ष तक इंदिरा जयंती मनाई जाएगी। इसके लिए अलग-अलग कमेटियां बनाई गई हैं। मेन कमेटी में पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा खेमा हावी है वहीं सब-कमेटियों में पार्टी प्रदेशाध्यक्ष डॉ. अशोक तंवर का गुट हावी रहा है।
छह अक्तूबर को नयी दिल्ली में राहुल गांधी की खाट यात्रा के समापन मौके पर हुड्डा व तंवर समर्थकों के बीच हुई मारपीट के बाद यह पहला मौका होगा जब प्रदेश कांग्रेस के सभी गुट एक मंच पर दिख सकते हैं। इंदिरा गांधी की 100वी जयंती 17 नवंबर है और इससे पहले इस कमेटी की बैठक होती ताकि इंदिरा जयंती कार्यक्रमों की रूपरेखा तय हो सके। पहली बैठक में पार्टी के हरियाणा मामलों के प्रभारी कमलनाथ आ सकते हैं। ऐसे में हुड्डा व तंवर गुट के अलावा प्रदेश कांग्रेस के अधिकांश दिग्गज नेता इसमें पहुंचेंगे।
अशोक तंवर के नेतृत्व वाली इंदिरा जयंती आयोजन कमेटी में कांग्रेस विधायक दल की नेता किरण चौधरी, पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा, राज्यसभा सांसद कुमारी शैलजा व शादीलाल बतरा, रोहतक के सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा, कांग्रेस के मीडिया विभाग के चेयरमैन रणदीप सिंह सुरजेवाला, पूर्व स्पीकर कुलदीप शर्मा व डॉ. रघुबीर सिंह कादियान, पूर्व कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष फूलचंद मुलाना, बलबीर पाल शाह व धर्मपाल मलिक, आदमपुर से विधायक कुलदीप बिश्नोई, पूर्व शिक्षा मंत्री गीता भुक्कल, विधायक जयवीर सिंह वाल्मीकि, ललित नागर, पूर्व वित्त मंत्री कै. अजय सिंह यादव व आफताब अहमद, पूर्व सांसद नवीन जिंदल व कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष जयपाल सिंह लाली शामिल हैं।

20 सदस्यीय इस कमेटी में हुड्डा खेमे के 11 नेता शामिल हैं। वहीं तंवर के अलावा किरण, कैप्टन अजय यादव, कुलदीप बिश्नोई आदि नेताओं को इसमें शामिल करके पार्टी हाईकमान ने सभी वरिष्ठ नेताओं को इस कमेटी के जरिये आपसी तालमेल बनाने की कोशिश की है। पांच सब-कमेटियां बनाई गई हैं। मीडिया प्रचार व इससे जुड़े प्रबंधन के लिए दो सदस्यीय कमेटी बनाई गई है। कांग्रेस प्रवक्ता कुलदीप सोनी व विकास चौधरी को इसका जि मा सौंपा गया है। ये दोनों ही नेता तंवर खेमे से हैं।

इंदिरा जयंती पर व्याख्यान व सेमीनार के लिए बनाई गई कमेटी में बलबीर भारती व मांगेराम हरडू को शामिल किया गया है। रैलियों तथा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के समारोह आदि की जिम्मेदारी ज्ञानचंद सहोता को दी गई है। यह कमेटी पूरी तरह से तंवर समर्थकों की है। इसके सदस्यों में बिजेंद्र सिंह कादियान, प्रदीप जेलदार व नरेश यादव शामिल हैं।