CM विंडो की शिकायतों को रद्दी की टोकरी में फेंकने वाले कई अधिकारी सस्पेंड

0
448

Chandigarh 08 September 2016:  CM विंडो पर आ रही शिकायतों में लापरवाही और ढुलमुल रवैया अपनाने के मामले को सरकार ने सख्ती से लिया है। बुधवार को सीएम विंडो पर आ रही शिकायतों की समीक्षा के दौरान सीएम के अतिरिक्त प्रधान सचिव डॉ़ राकेश गुप्ता ने एक साथ 7 अधिकारियों-कर्मचारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की। इनमें से 4 को सस्पेंड कर दिया गया है। 2 के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने, एक को कारण बताओ नोटिस और 2 के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई करने के आदेश दिये हैं।

सीएम विंडो पर आ रही शिकायतों पर कार्रवाई नहीं होने की शिकायतों पर संज्ञान लेते हुए सीएम के आदेशों पर यह बैठक हुई थी। इस मौके पर सीएम के ओएसडी मुकुल कुमार व भूपेश्वर दयाल भी मौजूद रहे। डॉ. गुप्ता ने बताया कि जिनको निलंबित किया गया है, उनमें एसएचओ चरखी दादरी, उच्चतर शिक्षा विभाग के सहायक आदिश कुमार, जींद जिला की उपतहसील उचाना में कार्यरत सहायक वसल बकी नवीस भूप सिंह, एसिस्टेंट सोयल कंजरवेटर आफिसर राहुल बडकोडिया और चरखी दादरी-द्वितीय के सीडीपीओ कार्यालय में कार्यरत आंगनवाड़ी सुपरवाइजर सुनीता शामिल हैं।
जिन अधिकारियों एवं कर्मचारियों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई करने के आदेश दिये गये हैं उनमें उच्चतर शिक्षा विभाग के अधीक्षक मनोज वर्मा शामिल हैं।
जींद जिला के गांव बरसोला की लक्ष्मी और कुलदीप के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के निर्देश भी दिए। जींद के खंड एवं विकास अधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। सीएम विंडो की शिकायतों पर कार्रवाई में वृद्धि होने से मुख्यमंत्री ने प्रशंसा जाहिर की है परंतु कहा कि अभी इसमें और तेजी लाने की जरूरत है।

LEAVE A REPLY