हरियाणा राजभवन में धूमधाम से मनाया गया हरियाणा का जन्मदिन

Happy Birthday Haryana

चण्डीगढ, 1 नवम्बर – हरियाणा राजभवन में आज राज्य स्तरीय हरियाणा दिवस समारोह बड़े ही हर्षोल्लास और उत्साहपूर्वक मनाया गया। समारोह का शुभारम्भ हरियाणा के राज्यपाल प्रो0 कप्तान सिंह सोलंकी और मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने विधिवत् दीप प्रज्ज्वलित करके किया। इसके बाद उड़ीसा से आई डॉ0 बलराम एंड पार्टी ने शंखनाद करके वातावरण को आध्यात्मिक तरंगों से परिपूर्ण कर दिया।
राज्यपाल ने प्रदेश के लोगों को इस शुभ अवसर पर बधाई देते हुए कहा कि हरियाणा प्रदेश ने अपने गठन के बाद प्रत्येक क्षेत्र में अभूतपूर्व प्रगति की है। 1966 में जब हरियाणा बना तो यह मरूस्थलीय प्रदेश था जिसकी गिनती अब देश के विकसित राज्यों में होती है। उन्होंने सब नागरिकों से अपील की कि वे इससे आगे हरियाणा को नवीन तकनीक व प्रौद्योगिकी से लैस दुनिया का सर्वाधिक विकसित क्षेत्र बनाने का संकल्प लें।
इस अवसर पर बहुरंगी सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये गये जिनकी शुरूआत डॉ0 हरविन्द्र राणा एंड पार्टी ने हरियाणवी नृत्य लूर से की गई। इसी पार्टी के खोडि़या नृत्य पर दर्शक मंत्रमुग्ध हो गए। सलीम हरियाणवी एंड पार्टी ने हरियाणवी नृत्य धमाल का खूब धमाल मचाया। गुजरात से आई दिलीप दवे एंड पार्टी ने गुजराती नृत्य डांडिया गरबा, महाराष्ट्र से सपनिल धोत्रे एंड पार्टी ने लावणी नृत्य, पंजाबी नृत्य भंगड़ा और तेलंगाना के बाथूगामा नृत्य ने भारत की बहुरंगी संस्कृति की छटा बिखेरी। इसके अतिरिक्त, हरियाणा के मेधावी छात्रों ने भी भाग लिया।
राज्यपाल ने समारोह में भाग लेने वाले कलाकारों को सात लाख रुपये देने की घोषणा की।

इस अवसर पर हरियाणा के वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु, परिवन मंत्री कृष्णलाल पंवार, सूचना, जनसम्पर्क, भाषा और कला व संस्कृति मंत्री श्रीमती कविता जैन, हरियाणा के लोकायुक्त न्यायमूर्ति एन0के0 अग्रवाल, सांसद रतनलाल कटारिया, हरियाणा भाजपा अध्यक्ष सुभाष बराला, पर्यटन निगम के अध्यक्ष जगदीश चोपड़ा, मुख्य सचिव डी0एस0 ढेसी, पुलिस महानिदेशक बी0एस0 संधू, एडवोकेट जनरल बलदेव राज महाजन, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजेश कुमार खुल्लर, मुख्यमंत्री के राजनीतिक सचिव दीपक मंगला, सांस्कृतिक कार्य विभाग की प्रधान सचिव डॉ0 सुमिता मिश्रा, राज्यपाल के सचिव डॉ0 अमित कुमार अग्रवाल सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी व गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।सरकार ने प्रेस नोट के साथ कोई तस्वीर नहीं भेजी है, शायद सरकार के पास फोटोग्राफरों की कमी है इसलिए सुबह की एक सोशल मीडिया की तस्वीर खबर के साथ संलग्न किया हूँ।

loading...

Leave a Reply

*