सर मुड़ाते ओले पड़े, फ्री काल नहीं कर पाएंगे Jio यूजर?

0
452

New Delhi 09 September 2016:  टेलिकॉम रेग्युलेटर (TRAI) ट्राई ने कल तमाम टेलीकॉम कंपनियों और जियो की बैठक बुलाई है जिसमें इंटरकनेक्टिविटी से जुड़े विवाद को लेकर चर्चा होगी. हालांकि फैसला ट्राई चेयरमैन के विदेश से वापस लौटने के बाद अगले हफ्ते होने की उम्मीद है ।

रिलायंस जियो को लेकर बवाल थमता नहीं दिख रहा ।  जियो के ग्राहकों के लिए फ्री वॉयस कॉलिंग की सुविधा मुहैया कराने पर बाकी टेलिकॉम कंपनियों ने कड़ा रुख अपना लिया है और प्रधानमंत्री कार्यालय से दखल की मांग की है |  वहीं सरकार कह रही है कि इस बारे में कंपनियों को आपस में बैठकर मामला सुलझाना चाहिए. इसे लेकर ट्राई ने कल मीटिंग बुलाई है. इस पर फैसला अगले हफ्ते होने की उम्मीद है |

एक तरफ जियो नेटवर्क है और दूसरी तरफ बाकी टेलिकॉम कंपनियां हैं |

जियो यूजर्स को करना पड़ रहा है कॉल ड्रॉप का सामना?
देश के सबसे अमीर शख्स मुकेश अंबानी की जियो सर्विस शुरू होने के साथ ही जियो की कॉल ड्रॉप का मामला गरम हो गया है । इसकी शुरुआत उसी दिन हुई थी जिस दिन मुकेश अंबानी ने जियो सर्विस का एलान किया था. रिलायंस जियो के सिम कार्ड ट्रायल के तौर पर करीब 30 लाख लोग पूरी तरह से मुफ्त इस्तेमाल कर रहे हैं. इन 30 लाख लोगों में मुख्य रुप से रिलायंस के कर्मचारी शामिल हैं लेकिन 5 सितम्बर के बाद व्यावसायिक तौर पर शुरु की गयी सेवा के बाद खासी संख्या में लोगों को कुछ निराशा हो सकती है क्योंकि उनके लिए फिलहाल जियो के कनेक्शन से किसी भी दूसरे ऑपरेटर के नंबर पर बातचीत करना आसान नही होगा, जियो के ग्राहक अब भी काल ड्रॉप का सामना कर रहे हैं हमेशा नेटवर्क बिजी जाता है ।

दरअसल सेल्युलर ऑपरेटर एसोसिएशन ऑफ इंडिया यानी सीओएआई के माध्यम से एयरटेल, वोडाफोन और आइडिया ने प्रधानमंत्री कार्यालय को शिकायत की है और दो टूक शब्दों में कहा कि वो अब तक जितने इंटरकनेक्ट प्वाइंट मुहैया करा चुके हैं, उससे कहीं ज्यादा मुहैया कराना संभव नहीं ।

LEAVE A REPLY