देश के लगभग 18 करोड़ कर्मचारी आज हड़ताल पर

0
562

New Delhi 02 September 2016: ट्रेड यूनियनों की शुक्रवार को हड़ताल से बैंकिंग, सार्वजनिक परिवहन और दूरसंचार जैसी सेवाएं प्रभावित हो सकती हैं। 10 केंद्रीय ट्रेड यूनियनों ने अपनी मांगों पर सरकार के रवैये और श्रम कानूनों में तथाकथित श्रमिक विरोधी बदलावों के विरोध में इस हड़ताल का आह्वान किया है।
यूनियनों का दावा है कि इस साल की हड़ताल अधिक व्यापक होगी क्योंकि इसमें 18 करोड़ कर्मचारी शामिल होंगे। पिछले साल हुई हड़ताल में 14 करोड़ श्रमिक शामिल हुए थे। वहीं इस बार राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से संबंधित भारतीय मजदूर संघ हड़ताल में शामिल नहीं है। ट्रेड यूनियन संयोजन समिति (टीयूसीसी) के महासचिव एसपी तिवारी ने दावा किया कि हड़ताल से बंदरगाह और नागर विमानन सहित आवश्यक सेवाएं मसलन परिवहन, दूरसंचार और बैंकिंग बुरी तरह प्रभावित होंगे। अस्पतालों और बिजली संयंत्रों के कर्मचारी भी हड़ताल पर जाएंगे, लेकिन इससे वहां सामान्य कामकाज प्रभावित नहीं होगा।

LEAVE A REPLY