BREAKING: फरीदाबाद में 400 कारखाने बंद, ढाई लाख मजदूर हुए बेरोजगार

Bad News For Faridabad People

फरीदाबाद: देश की सबसे बड़ी अदालत द्वारा उधोग जगत में पेटकॉक,व् फर्नेस ऑयल के प्रतिबंद के बाद फरीदाबाद में 400 कारखाने बंद हो गए है ,इस आदेश के बाद जहाँ फरीदाबाद में 400 कारखाने बंद हो गए है वही वही ढाई से तीन लाख मजदूर बेरोजगार हो गए है ,वही इस आदेश के बाद कम्पनी मालिक ही क्या मजदूरो की रोजी -रोटी पर तलवार लटक गई है ,इसी को देखते हुए कंपनी मालिक अब सुप्रीम गुहार लगाएंगे और कुछ मांगेंगे ,वही कम्पनी मालिकों ने इस आदेश के बाद बताया की फरीदाबाद जिसे औद्योगिक नगरी के नाम से जाना जाता था वह अब फकीराबाद बन जाएगा।

फरीदाबाद जिसे कभी उद्योगिक नगरी के नाम से जाना जाता था इस छोटे से फरीदाबाद में देश के हर कोने से आये लोग यहाँ अपनी रोजी रोटी कमा कर अपना और अपने परिवार का पालन पोषण करते है,लेकिन अब देश की सबसे बड़ी अदालत ने अचानक एक आदेश दिया है जिसमे कोर्ट ने पर्यावरण संरक्षण के चलते कहा है की उधोग जगत में पेटकॉक,व् फर्नेस ऑयल बंद किया जाये। कोर्ट ने यह आदेश हरियाणा ,उत्तर प्रदेश और राजस्थान के टेक्सटाइल क्षेत्र में पेटकॉक और फर्नेस ऑयल के इस्तेमाल पर प्रतिबंद लगा दिया है। इससे इन राज्यों में चलने वाली टेक्टाइल ,रबर ,शुगर मिल ,स्टील ,पेपर व् पैकेजिंग के हजारो कारखाने बंद हो जायेंगे और लाखो लोग बेरोजगार हो जायेंगे।अकेले फरीदाबाद में लगभग 400 कारखाने बाद हो जायेंगे और लाखो लोग भुखमरी की कगार पर आ जायेंगे। वही इस फैसले के बाद (एफआईए ) के एग्जेक्युटिव डायरेक्टर कर्नल एस ० कपूर और अन्य उधमियों का कहना है की इस फैसले से न केवल फरीदाबाद की पहचान खत्म हो जाएगी बल्कि फरीदाबाद फकीराबाद बन जाएगा ,मजदूर यहाँ से पलायन करने को मजबूर हो जायेंगे। वही कर्नल एस कपूर ने कहा की वह कोर्ट के इस फैसले सम्मान करते है और कंपनी को चलाने के लिए दूसरे विकल्प का इस्तेमाल करेंगे। वही उन्होंने बताया की वह इस फैसले को लेकर कोर्ट से गुहार लगाते हुए कोर्ट से उद्योग चलाने का कुछ दिन का और समय मांगेंगे।

loading...

Leave a Reply

*