मोदी चिंतित क्यू कि दुनिया के जिस भी देश की सरकार ने GST लागू किया, वो सत्ता में दुबारा नहीं लौटी

Bad News BJP Govt For GST

नई दिल्ली: देश का कोई मीडिया संस्थान इन दिनों कोई सर्वे नहीं दिखा रहा है कि अगर वर्तमान में लोकसभा चुनाव हो जाएँ तो मोदी सरकार को कितनी सीटें मिलेंगी। पिछले लोकसभा चुनावों के बाद दो तीन बार मीडिया सर्वे रिपोर्ट जारी कर चुके हैं जिसे मोदी सरकार को भारी बहुमत मिलते दिखाया गया था। पिछले साल नोटबंदी के बाद इस साल के शुरुवात में जो सर्वे दिखाया गया उसमे भी कहा गया कि नोटबंदी से मोदी सरकार पर कोई असर नहीं पड़ा और देखा भी यही गया। उत्तर प्रदेश जैसे कई राज्यों में चुनाव हुए जहाँ भाजपा की सरकारें बनीं और वही सब देखकर मोदी सरकार गुब्बारे की तरह फूल गई और जीएसटी लागू कर दिया। अब अगर सर्वे हो जाये तो केंद्र की भाजपा सरकार को उतनी सीटें शायद ही मिले जितनी इस साल के शुरुआत में बताया जा रहा है।

एक अनुमान के मुताबिक़ जीएसटी के बाद मोदी सरकार के गुब्बारे में छेद हो गया और गुब्बारे से धीरे धीरे हवा निकलने लगी है। इस बात शायद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लग चुका है और अब वो गुब्बारे के छेद को भरने का प्रयास करने लगे हैं। ख़ास सूत्रों की मानें तो केंद्र सरकार के मंत्री अब कारोबारियों के बीच जाकर उनका हाल जानेंगे। मंत्रियों को ये निर्देश जारी किया गया है कि वो कारोबारियों से सीधे रूबरू हों ताकि उनकी परेशानियों का जायजा लिया जा सके और समय रहते उन्हें दूर भी किया जाए। जीएसटी के बाद देश के लाखों व्यापारियों ने सरकार के इस फैसले को गलत बताया था लेकिन उस समय सरकार ने कुछ नहीं सोंचा। अब कुछ बड़े भाजपा नेताओं ने जब सवाल उठाया तब सरकार की नींद खुली ये अब तक सोते रहते। पिछले दो तीन महीने में मोदी सरकार का ग्राफ काफी लुढ़का है। अधिकतर लोग जीएसटी को लेकर परेशान हैं खासकर व्यापारी वर्ग काफी दुखी है। हरियाणा अब तक के पाठकों को मालुम हो कि दुनिया के दूसरे देशों में जिस जिस सरकार ने जीएसटी लागू किया है वो अगली बार सत्ता में नहीं आई है। इसी बात को लेकर पीएम चिंतित हैं और यही वजह है कि अब मोदी सरकार और पार्टी कोई जोखिम मोल लेना नहीं चाहती। व्यापारियों को रिझाने का प्रयास किया जाएगा।

loading...

Leave a Reply

*