ईद मुबारक शायरी

आज यारों को मुबारक हो कि सुब्ह-ए-ईद है राग है मय है चमन है दिलरुबा है दीद है.. ईद अब के भी गई यूँही किसी ने न कहा कि तिरे यार को हम तुझ से मिला देते हैं,, ईद का दिन है गले आज तो मिल ले ज़ालिम रस्म-ए-दुनिया भी है मौक़ा भी है दस्तूर […]