खबर पढ़ सिर न खुजलाएं, कपिल सिब्बल ने कहा अयोध्या में बनेगा राम मंदिर

नई दिल्ली: शायद मौलाना साहब अपने बयान से घिर गए थे या ये भी हो सकता है उन पर कुछ लोगों दे दबाव बनाया हो कि खान साहब आपने ये क्या कह दिया और फिर खान साहब चार घंटे के अंदर बदल गए। जी हाँ सुबह तक जिस सुन्नी वक्फ बोर्ड ने सिब्बल के बयान से किनारा कर लिया था शाम होते-होते वह अपने बयान से पलट गया और अपने वकील की दलील का पक्ष ले लिया। उधर बोर्ड के वकील कपिल सिब्बल ने जब देखा कि दांव उलटा पड़ गया तो उनका भी एक अलग बयान आया और उन्होंने न्यूज एजेंसी ANI से बातचीत में कहा कि प्रधानमंत्री और बीजेपी के लोग उनपर हमला करने से पहले तथ्यों की पड़ताल कर लेनी चाहिए थी।

उन्हें मालूम होना चाहिए कि मैं सुप्रीम कोर्ट में सुन्नी वक्फ बोर्ड का वकील नहीं हूं। ना ही मैंने वक्फ बोर्ड के वकील की हैसियत से बाबरी मस्जिद और राम मंदिर विवाद मामले की सुनवाई 2019 के बाद करने की मांग की थी. कपिल सिब्बल से जब पूछा गया क्या वे नहीं चाहते की अयोध्या में राम मंदिर बने? इसके जवाब में उन्होंने कहा अयोध्या में बीजेपी या पीएम मोदी नहीं राम मंदिर बनवा सकते हैं, इस मामले में मेरी उनमें कोई आस्था नहीं है. भगवान राम जब चाहेंगे तभी अयोध्या में राम मंदिर बनेगा। मेरी आस्था भगवान राम में है। इससे पहले पीएम मोदी ने सुन्नी वक्फ बोर्ड के साहस की सराहना की, जिसने कपिल सिब्बल के बयान से किनारा कर लिया है।

loading...

Leave a Reply

*