एक साल पहले का वीडियो शेयर कर BJP सांसद मनोज तिवारी को किया जा रहा है बदनाम

0
203

नई दिल्ली: सोशल मीडिया पर आम आदमी पार्टी और कांग्रेसी कार्यकर्ताओं द्वारा पिछले हफ्ते से शेयर किया जा रहा वो वीडियो पिछले साल का है। 2017 का वीडियो शेयर कर कांग्रेसी कार्यकर्ता बता रहे है कि दिल्ली के भाजपा सांसद मनोज तिवारी के लिए दिल्ली पुलिस ने एम्बुलेंस रोकी,….
एम्बुलेंस में जिन्दगी और मौत से लड़ रही बच्ची थी .और अंत में बच्ची ने दम तोड़ दिया !

इस वीडियो के बारे में जांच करने पर पता चला कि ये वीडियो 2017 का है। जब मलेशिया के प्रधानमंत्री नजीब रज्जाक भारत के दौरे पर आये थे। उस समय दिल्ली पुलिस ने राजघाट पर ट्रैफिक रोक दिया था। उसी वक्त ये एम्बुलेंस जाम में फंसी थी। पड़ताल में यह भी पता चला कि एंबुलेंस में बीमार बच्ची मौजूद थी। बच्ची के पिता ने बताया कि बच्ची अब स्वस्थ है। उसे सही वक्त पर अस्पताल में भर्ती करा दिया गया था। यानि जिस वीडियो को नया बताकर पेश किया जा रहा था वो एक साल पुराना है और इसका मनोज तिवारी से किसी भी तरह का कोई रिश्ता नहीं है ,पड़ताल में मनोज तिवारी के चक्कर में बच्ची की मौत के दावा झूठा साबित हुआ है।प्रीति नरूला ने एक साल पहले इसे लाइव लिया था देखें

LEAVE A REPLY