पुलिस ने किसानों को आंदोलन स्थल पहुँचने से रोका, कांग्रेस ने कहा अच्छी बात नहीं है ये

0
166

फरीदाबाद। मध्यप्रदेश से दिल्ली के लिए शांतिपूर्वक पैदल यात्रा पर निकले किसानों को फरीदाबाद पुलिस प्रशासन द्वारा सेक्टर-16ए अनाज मंडी में जबरन रोके जाने की सूचना मिलने पर आज कांग्रेसी नेताओं ने किसानों से मुलाकात की और उनकी समस्याओं को गंभीरता से सुना। इस मौके पर कांग्रेस कमेटी के फरीदाबाद प्रभारी मोहम्मद बिलाल व प्रदेश प्रवक्ता विकास चौधरी मुख्य रुप से मौजूद थे। इस दौरान किसानों ने कांग्रेसी नेताओं को बताया कि पुलिस प्रशासन उन्हें तितर-बितर करने के लिए षडयंत्र रच रहा है। उन्होंने बताया कि प्रशासन द्वारा बसें मंगाई गई है, जिसमें उन्हें जबरन डालकर वापिस भेजा जाएगा। यह बात संज्ञान में आने पर कांग्रेसी नेताओं ने एडीसी जितेंद्र दहिया, डीसीपी भूपेंद्र सिंह और एसीपी दिनेश यादव से बातचीत कर पूरे मामले की जानकारी दी और उनसे कहा कि वह किसानों पर किसी तरह की ज्यादती ना करें क्योंकि इससे शहर की शांति व्यवस्था प्रभावित हो सकती है।

कांग्रेसी नेता विकास चौधरी ने कहा कि भाजपा सरकार की नीतियों से किसान त्रस्त है और अपनी समस्याओं को लेकर अगर वह शांतिपूर्वक धरना प्रदर्शन कर रहे है तो इसमें कोई कानून का उल्लंघन नहीं होता। उन्होंने कहा कि शांतिपूर्ण ढंग से अपनी बात रखना लोकतंत्र में हर नागरिक का अधिकार है, ऐसे में अगर किसान शांतिपूर्वक धरना दे रहे है और पुलिस उन्हें बंधकों की तरह नजरबंद कर रही है, यह पूरी तरह से गलत है, जिसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने प्रशासन को चेताते हुए कहा कि धरने पर बैठे किसानों के खिलाफ पुलिस प्रशासन ने कोई अनुचित कदम उठाया तो कांग्रेस कार्यकर्ता बर्दाश्त नहीं करेंगे और वह सड़कों पर उतरकर सरकार की ईट से ईट बजा देंगे। इस मौके पर कांग्रेसी नेता डा. धर्मदेव आर्य, अनीशपाल, डा. एस.एल. शर्मा, गजेंद्र सिंह सहित अनेकों कांग्रेसी कार्यकर्ता मौजूद थे।

LEAVE A REPLY