जेल भेजे गए विकास बराला बोले मुझे बलि का बकरा बना दिया गया

Vikas Barala In Jail

चंडीगढ़: क़ानून के हाँथ बहुत लम्बे होते हैं लेकिन कुछ लोग ये हाँथ बाँध भी देते हैं और इसी वजह से बड़े बड़े अपराध कर कुछ क़ानून की पकड़ से बाहर रहते हैं। हरियाणा भाजपा अध्यक्ष सुभाष बराला ने चंडीगढ़ छेड़छाड़ काण्ड के पहले शायद ही सोंचा होगा कि जल्द उन्हें जेल जाना पड़ेगा क्यू कि उनके पिता प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष और उसी पार्टी की केंद्र और राज्य में सरकार है। कहते हैं घमंड अच्छी बात नहीं होती और सत्ता के नशे का खुमार भी ज्यादा दिन तक सर चढ़कर नहीं बोलता। इस मामले में क़ानून के हाँथ बंध सकते थे लेकिन ऐसा नहीं हो पाया क्यू कि इस मामले में बीजेपी की बड़ी फजीहत हो रही थी। अब विकास बराला जेल में हैं। कल दो दिन की हिरासत के बाद उन्हें कोर्ट में पेश किया गया जहां से जेल भेज दिया गया। पुलिस ने आगे कोई रिमांड की मांग नहीं की।

छेड़छाड़ के दोनों आरोपियों को भारी सुरक्षा के बीच पुलिस ने सेक्टर-43 में ड्यूटी मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश किया। कोर्ट रूम में दोनों आरोपी पुलिस कर्मियों के बीच मुंह छिपाये खड़े रहे। पुलिस ने रिमांड बढ़ाने की मांग नहीं की। इसके बाद दोनों आरोपियों को बुड़ैल जेल भेज दिया गया। दोनों को आईएएस अफसर की बेटी वर्णिका कुंडू का पीछा करने, छेड़छाड़ और अपहरण की कोशिश के आरोप में 9 अगस्त को गिरफ्तार किया गया था।
विकास बराला के वकील सूरज प्रकाश ने अदालत परिसर में मीडिया से कहा कि पुलिस के पास जांच के लिए कुछ नहीं है, इसीलिए रिमांड नहीं मांगा गया। वकील ने बताया कि अदालत आने से पहले विकास ने उन्हें कहा कि उसे बलि का बकरा बनाया जा रहा है, उसकी कोई गलती नहीं है। वकील ने क्राइम सीन री-कंस्ट्रक्ट करने पर भी सवाल उठाये। उन्होंने कहा कि पुलिस ने विकास को साथ बिठाए रखा, जबकि उसे गाड़ी चलानी देनी चाहिए थी।

loading...

Leave a Reply

*