पुलिस एनकाउंटर से डरकर विकलांग बन कोर्ट सरेंडर करने पहुंचा 1 लाख का इनामी बदमाश

0
286

नई दिल्ली: कुछ नेता वगैरा पुलिस के हांथों को बाँध कर रखते हैं क्यू कि आजकल के कुछ नेता बदमाशों को भी पालकर रखते हैं। खासकर उत्तर प्रदेश में ऐसा चल रहा था तभी पुलिस चाहते हुए भी बदमाशों पर गोली नहीं चला पाती थी। प्रदेश में सरकार बदली और पुलिस को खुली छूट मिल गई और अब तक कई दर्जन बदमाश ठोंके जा चुके हैं जबकि 200 से ज्यादा गैंगेस्टर और क्रिमिनल गिरफ्तार कर जेल भेज दिए गए हैं। दर्जनों बदमाश खुद जेल भाग गए हैं क्यू कि उन्हें डर था कि पुलिस उनका एनकाउंटर कर देगी। उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले से एक बड़ी खबर आ रही है जहाँ पुलिस एनकाउंटर से बचने के लिए एक लाख के इनामी बदमाश ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया और जेल चला गया। हरियाणा अब तक को अब तक मिली जानकारी के मुताबिक़ मेरठ पुलिस बदमाश आदित्य कुमार को कई महीने से ढूंढने का प्रयास कर रही थी। पुलिस की आंख में धूल झोंकते हुए उसने गुपचुप कोर्ट में सरेंडर कर दिया है।

आदित्य कुमार ने कोर्ट में सरेंडर करने के लिए पहले से ही तैयारी की। उसने पुलिस को धोखा देने के लिए विकलांग होने का नाटक किया। आदित्य के हाथ में बैसाखी थी जबकि जबकि उसके गैंग का सदस्य रोहित हेल्पर बनकर कोर्ट पहुंचा। 28 साल का आदित्य एक खतरनाक पेशेवर हत्यारा है। उस पर 1 लाख रुपये का इनाम भी है। उसे पकड़ने के लिए सिर्फ यूपी पुलिस ही नहीं बल्कि एटीएस और एसटीएफ भी प्रयास कर रही थी। उसे दबोचने के लिए जिले में उसके पोस्टर्स भी लगाए गए थे।

पुलिस ने बताया कि आदित्य पर बिजनौर और मुरादाबाद जिले के विभिन्न थानों में 16 लूट, हत्या और हत्या के प्रयास के मुकदमे दर्ज हैं। आदित्य ने 30 जनवरी 2016 को हुए गुरप्रीत उर्फ लाडी मर्डर केस में सरेंडर + किया है। लाडी नजीबाबाद का रहने वाला था लेकिन उसका शव नेथौर इलाके में मिला था। इस मर्डर केस की सुनवाई विशेष अदालत में चल रही है। अदालत ने आदित्य के खिलाफ 26 जनवरी 2017 को वॉरंट जारी किया था।

LEAVE A REPLY