तीन तलाक ख़त्म, खुश हुए खट्टर

0
502
Triple talaq verdict, Haryana CM Happy

चंडीगढ, 22 अगस्त- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने सर्वोच्च न्यायालय द्वारा लिए गए ऐतिहासिक फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि यह फैसला मुस्लिम महिलाओं को समानता का अधिकार प्रदान करेगा।
एक अन्य बयान में महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती कविता जैन ने बहुचर्चित तीन तलाक मामले में सुप्रीम कोर्ट की पांच सदस्यीय संविधान पीठ द्वारा दिए गए निर्णय पर खुशी जताते हुए कहा है कि तीन तलाक के असंवैधानिक होने से देश के अंदर मुस्लिम बहनों को सामाजिक आजादी मिलेगी। उन्होंने कहा कि यह निर्णय देश के विकास में महिलाओं के योगदान को बढ़ाने की दिशा में सबसे बडा कदम साबित होगा। उन्होंने इस मामले को राष्ट्रीय स्तर पर उठाने वाली मुस्लिम बहनों को भी बधाई दी।
देश के जटिल सामाजिक मुद्दों में से एक तीन तलाक पर सुप्रीम कोर्ट की पांच सदस्यीय संविधान बैंच द्वारा इसे असंवैधानिक करार दिए जाने के निर्णय पर प्रतिक्रिया देते हुए उन्होंने कहा कि जिस प्रकार नोटबंदी देश की आर्थिक आजादी का मार्ग प्रशस्त करने वाला निर्णय है, उसी प्रकार इस निर्णय से देश के प्रत्येक कोने में रहने वाली मुस्लिम बहनों और उनके बच्चों को सामाजिक सम्मान मिलना सुनिश्चित होगा। उन्होंने कहा कि देश में महिलाओं को बराबरी का दर्जा दिलाने की प्रक्रिया में तीन तलाक का विषय मुस्लिम बहनों को समाज, परिवार और कार्यक्षेत्र में अपनी क्षमता का प्रदर्शन करने में सबसे बडी बाधा बना हुआ था।
उन्होंने कहा कि देश का संविधान ही नहीं अपितु सभी धर्म नागरिकों को बराबरी का अधिकार देते हैं, लेकिन लंबे समय से तीन तलाक के विषय के कारण मुस्लिम बहनों का जीवन दुश्वारियों से भर रहा है। अचानक आए गुस्से से लेकर छोटी-छोटी बात पर उनसे महज चंद शब्दों में वह रिश्ता खत्म कर दिया जाता था, जो वह जीवनपर्यंत निभाना चाहती थी। श्रीमती जैन ने कहा कि निश्चित तौर पर मुस्लिम बहनों में इस निर्णय से आत्मविश्वास में बढोतरी होगी। उन्होंने कहा कि यह निर्णय मुस्लिम महिलाओं को आने वाले समय में अन्य अव्यवहारिक निर्णयों को समाप्त कराने का आधार बनेगा। उन्होंने मुस्लिम बहनों को इस निर्णय की बधाई देते हुए कहा कि अब वह अपने सामाजिक जीवन को सशक्त तरीके से जीने के लिए तैयार हों।

LEAVE A REPLY