अब पुलिस को असली कागजात दिखाने की जरूरत नहीं, मोबाइल से चल जाएगा काम

0
440

नई दिल्ली: अब ट्रैफिक पुलिस को आप ड्राइविंग लाइसेंस या अन्य तरह के असली कागजात न दिखाएँ तब भी काम चल जाएगा। अब मोबाइल पर ई कॉपी से ही आपका काम चल जाएगा न ही पुलिस आपसे ओरिजिनल पेपर मांगेगी। दरअसल आईटी ऐक्ट के प्रावधानों का हवाला देते हुए परिवहन मंत्रालय ने ट्रैफिक पुलिस और राज्यों के परिवहन विभागों से कहा है कि ड्राइविंग लाइसेंस, रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट और इंश्योरेंस पेपर जैसे दस्तावेजों की ऑरिजनल कॉपी वेरिफिकेशन के लिए न ली जाए।

मंत्रालय की तरफ से कहा गया है कि डिजिलॉकर या एमपरिवहन ऐप पर मौजूद दस्तावेज की इलेक्ट्रॉनिक कॉपी इसके लिए मान्य होगी। इसका मतलब यह हुआ कि ट्रैफिक पुलिस अब अपने पास मौजूद मोबाइल से ड्राइवर या वाहन की जानकारी डेटाबेस से निकालकर इस्तेमाल कर सकती है। उसे ओरिजनल दस्तावेज लेने की जरूरत नहीं होगी। पहले पुलिस आपके असली पेपर देखती थी। कोई कमी होने पर उसे जमा कर लेती थी लेकिन ऐसे कई मामले आये जिनमे पेपर गुम हो जाते थे बाद में शिकायत करने पर परिवहन विभाग उन असली पेपरों को खोजने में असफल रहा था इसलिए अब ऐसे नियम बनाये गए हैं।

आपकी जानकारी के लिए  बता दें कि सरकार ने इसके लिए एक वेबसाइट digilocker.gov.in बनाई है।  यहां से आप डिजिलॉकर एप को डाउनलोड कर सकते हैं. इसके बाद आप अपना डिजिलॉकर अकाउंट खोल सकते हैं।  इसके लिए आपको मोबाइल नंबर डालना पड़ता है। फिर वन टाइम पासवर्ड (OTP) आपके मोबाइल नंबर पर आएगा जिसे इस्तेमाल कर मोबाइल नंबर को ऑथेंटिकेट कर सकते हैं।
फिर यूजरनेम और पासवर्ड सेलेक्ट करना होगा। डिजिलॉकर अकाउंट बनने के बाद आप अपने डॉक्यूमेंट अपलोड कर सकते हैं।  डिजिलॉकर की अन्य सेवाओं का लाभ उठाने के लिए आप अपना आधार नंबर भी दे सकते हैं।

LEAVE A REPLY