इतिहास में पहली बार देश के तीनों बड़े पदों पर विराजमान हो गए गरीबों के बेटे

Swearing-in-Ceremony at Rashtrapati Bhavan

नई दिल्ली: देश में पहली बार ऐसा हुआ है कि देश के तीनों प्रमुख पदों पर देश के गरीब का कब्जा हो गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बचपन में चाय बेंचकर यहाँ पहुंचे हैं तो राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद उत्तर प्रदेश के एक गांव के कच्चे मकान में पल बढ़ यहाँ तक पहुँच गए। एम वेंकैया नायडू आज 13वें उपराष्ट्रपति पद की शपथ ली। नायडू भी किसान के बेटे हैं और गरीब परिवार से ताल्लुक रखते थे। पीएम नरेंद्र मोदी ने राज्यसभा में नायडू का स्वागत करते हुए उनकी जमकर तारीफ की।

PM मोदी ने उनकी भाषण कला और तुकबंदी की भी सराहना की।पीएम ने कहा कि आज सर्वोच्च पदों पर सामान्य घरों के लोग आसीन हुए हैं। नायडू किसान के बेटे हैं और गांव को भली-भांति जानते हैं। वह जेपी आंदोलन से भी जुड़े रहे। पीएम ने कहा कि देश को पहले ऐसे उपराष्ट्रपति मिले, जो सदन की बारीकियों से वाकिफ हैं। नायडू पहले ऐसे उपराष्ट्रपति हैं, जो आजाद भारत में पैदा हुए। इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है जब साधारण परिवार के लोग इन पदों पर विराजमान हुए हैं।

loading...

Leave a Reply

*