15 अगस्त को दिल्ली में बड़े हमले की फिराक में था ये आतंकी, हामिद अंसारी बताएं कौन है ये?

Suspected Al-Qaeda terrorist Zeeshan Ali who was deported to India from Saudi Arabia yesterday sent to 14-day police custody

नई दिल्ली: उप-राष्ट्रपति पद से दस साल के कार्यकाल के बाद विदा हुए हामिद अंसारी जाते जाते अपने विदाई भाषण में कई बड़े सवाल खड़े कर गए।  हामिद अंसारी राज्यसभा में अपने आखिरी भाषण में नसीहत भी दे गए कि जिम्मेदारी सरकार की है कि अल्पसंख्यक खुद को सुरक्षित महसूस करें। उन्होंने कहा कि देश में मुसलमान असुरक्षित हैं। हामिद अंसारी अब भाजपा सहित देश के सत्तर फीसदी लोगों के निशाने पर आ रहे हैं। कांग्रेस और आजादी गैंग के कई नेता उनके बयान का समर्थन भी कर रहे हैं लेकिन ये ज्यादा से ज्यादा देश में तीस फीसदी हैं। इसी तीस फीसदी में आजादी गैंग और कांग्रेस दोनों समा गईं हैं। आज सुबह से देश में अंसारी के बयानों का जिक्र हर खबरिया चैनलों पर चल रहा है। सोशल मीडिया पर कोई और खबर भी छापी जा रही है तो उस पर जो कमेंट्स आ रहे हैं उसमे अंसारी के बयान की चर्चा जरूर हो रही है।

दिल्ली में पकडे गए आतंकी जीशान की खबर में अंसारी की ही चर्चा हो रही है। लोगों का कहना है कि जीशान अली जैसे आतंकवादियों के बारे में हामिद अंसारी का क्या कहना है। लोगों का कहना है कि कई महीनों से देश में आतंकी जमकर ठोंके जा रहे हैं, पकडे जा रहे हैं इसलिए अंसारी दुखी हैं। खुद अंसारी ने अपने बयान में पत्थरबाजों की वकालत किया है।आज जो आतंकी पकड़ा गया है उसे बहुत बड़ी बारदात करने दिल्ली पहुंचा था। ये स्वतन्त्रता दिवस पर देश में हमले की साजिश रच रहा था। आतंकवादी जीशान अली को सऊदी अरब से भारत भेजा गया था। आतंकी को 14 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया। बताया जा रहा है कि वह हमले को अंजाम देने के बाद नेपाल भागने की तैयारी में था। हामिद अंसारी ने ऐसे आतंकियों के बारे में कभी कुछ नहीं कहा आखिर क्यू? आज उनके अंदर की बात जग जाहिर हो गई। सोशल मीडिया के लोग कह रहे हैं कि ऐसे लोग देश के इतने बड़े पद पर नहीं होना चाहिए। वरना देश खतरे में पड़ सकता है। खैर अब अंसारी चले गए हैं खतरा टल गया है।

loading...

Leave a Reply

*