NCR के पटाखा व्यापारियों को सुप्रीम कोर्ट ने दिया बुरी खबर, रोहिंग्या मुसलामानों को दी खुशखबरी

नई दिल्ली: दिल्ली एनसीआर के पटाखा व्यापारियों को सुप्रीम कोर्ट से तो कोई राहत नहीं मिली लेकिन रोहिंग्या मुसलामानों को मिल गई  सुप्रीम कोर्ट ने ‌‌द‌िल्ली-एनसीआर में लगाए गए पटाखा ब‌िक्री पर बैन के अपने फैसले को बदलने से इंकार करते हुए पटाखा व्यापार‌ियों की याच‌िका को ठुकरा द‌िया है। इसके साथ ही द‌िल्ली-एनसीआर में इस बार पटाखा बेचने पर अगली सुनवाई तक बैन लगा रहेगा। उधर सुप्रीम कोर्ट ने आज रोहिंग्या शरणार्थियों पर सुनवाई करते हुए केंद्र सरकार से कहा है कि अगले आदेश तक रोहिंग्या को वापस न भेंजे। अगर वो रोहिंग्या मामले में कोई भी आकस्मिक फैसला लेते हैं तो पहले हमें बताएं। कोर्ट ने आगे कहा कि रोहिंग्या मामला कोई साधारण मामला नहीं है, इस मामले में मानवाधिकार भी शामिल है और इससे कई लोग जुड़े हैं। देश के लोगों को सुप्रीम के इन निर्णयों को मानना चाहिए लेकिन काफी लोग इन फसलों से खुश नहीं दिख रहे हैं।

सोशल मीडिया पर कई तरह के सवाल खड़े किये जा रहे हैं क्यू कि सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि दीवाली पर देखा जाएगा कि प्रदूषण कितना रहता है उसके बाद पटाखा बैन के बारे में कोई निर्णय लिया जाएगा, इस पर लोगों का कहना है कि दीवाली पर ही सुप्रीम कोर्ट को रिसर्च करना था। वहीं कांग्रेसियों ने सोशल मीडिया पर कुछ पोस्ट किये हैं कि औरंगजेब के जमाने में पटाखे पर बैन था और अब बैन किया गया है। रोहिंग्या पर लोगों का कहना है कि भारत में लाखों लोग भूख से मर रहे हैं, किसान आत्महत्या लगातार कर रहे हैं, उनका दुःख सुप्रीम कोर्ट ने कभी नहीं देखा, रोहिंग्या का दर्द समझ लिया। एक दो कमेंट्स पढ़ें।
गरीब न्याय के लिए भटक रहा है,लाखों केस कोर्ट में पेंडिंग हैं,my lord मुंशीगिरी कर रहे हैं।सरकारें झक मारने के लिए हैं,देश अब SC ही चलाए।
These judges don’t have any evidence to back up their judgement.
They are expirementing.

loading...

Leave a Reply

*