सुमित हत्याकांड में मुख्य आरोपी देवेन्द्र साथी सहित गिरफ्तार

0
169

हर्षित सैनी: रोहतक, 19 फरवरी। रोहतक पुलिस की अपराध शाखा-3 की टीम ने गत दिनों सुनारियां चौक के पास हुए सुमित उर्फ नान्हा हत्याकांड में शामिल दो आरोपियों को गिरफ्तार करने मे सफलता प्राप्त की है।
पुलिस ने आरोपियों को आज पेश अदालत किया, जहां पर अदालत ने आरोपियों को 3 दिन के पुलिस हिरासत रिमांड पर भेजने का आदेश दिए। हत्याकांड में शामिल अन्य आरोपियों को गिरफ्तार करने के प्रयास किए जा रहे हैं। मामले की गहनता से जांच जारी है।
अपराध शाखा तृतीय प्रभारी निरीक्षक ललित कुमार ने उपरोक्त जानकारी देते हुए बताया कि 11 फरवरी को पुलिस को सूचना मिली कि सुनारियां रोड़ पर एक युवक को गोली मारी गई है। पुलिस ने तुरंत मौके पर पहुंच कर जांच शुरु कर दी। वारदात में घायल हुए सुमित उर्फ नान्हा पुत्र राजेन्द्र निवासी सुनारियां कलां की मौत हो गई।
पुलिस ने मृतक के भाई जयभगवान उर्फ पाली के ब्यान पर सुनारियां कलां निवासी देवेन्द्र, सुनारियां खुर्द निवासी नवीन, सुधीर व अन्य के खिलाफ थाना शिवाजी कालोनी में अभियोग संख्या 67/19 अंकित कर जांच शुरु कर दी। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक रोहतक जशनदीप सिंह रंधावा ने अभियोग की जांच अपराध शाखा तृतीय को सौंप आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए।

उन्होंने बताया कि दौराने जांच सामने आया कि सुमित उर्फ नान्हा उम्र 26 साल अपने पिता के साथ खेतीबाड़ी का काम करता था। 11 फरवरी को सुमित अपने साथी विजय निवासी गांव सुनारियां कला के साथ मोटरसाईकिल पर सवार होकर गांव से रोहतक शहर आ रहे थे। मोटरसाईकिल विजय चला रहा था।
निरीक्षक ललित कुमार ने बताया कि समय करीब 3 बजे दोपहर सुनारियां चौक से पहले दो मोटरसाईकिल पर सवार देवेन्द्र, नवीन, सुधीर व अन्य युवकों ने उनकी मोटरसाईकिल के आगे अपनी मोटरसाईकिल अड़ा कर रोक लिया। देवेन्द्र ने पिस्तोल से सुमित को गोली मारी तथा नवीन, सुधीर व अन्य ने चाकूओं व पिस्तोल से सुमित पर हमला कर दिया। हमलें में विजय भी गोली व चाकू लगने से घायल हो गया। वारदात में घायल हुए सुमित को पीजीआई ले जाते वक्त दम तोड़ दिया। घायल विजय का उपचार चल रहा है।
उन्होंने बताया कि वारदात में शामिल रहे आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए सीआईए की अलग-2 टीमों का गठन किया गया। हत्या की वारदात के प्रत्येक पहलू का गंभीरता के साथ अध्ययन किया गया। स.उप.नि. अनिल कपुर के नेतृत्व में सीआईए-3 की टीम ने 18 फरवरी को छापेमारी करते हुए मुख्य नामजद आरोपी देवेन्द्र उर्फ देव पुत्र महताब निवासी सुनारियां कलां को वारदात में शामिल रहे उसके साथी सुमित उर्फ देवा पुत्र रामफल निवासी सुनारियां कलां को झज्जर बाईपास रोहतक से गिरफ्तार किया है।
उन्होंने बताया कि प्रारंभिक जांच में सामने आया कि मृतक सुमित उर्फ नान्हा व देवेन्द्र उर्फ देव की कई महीनों से आपसी दुश्मनी चली आ रही है। कुछ महीने पहले सुमित उर्फ नान्हा ने देवेन्द्र उर्फ देव पर जानलेवा हमला किया था जिस संबंध में सुमित उर्फ नान्हा के खिलाफ थाना शिवाजी कालोनी में हत्या के प्रयास का मामला दर्ज है।
उक्त मामलें में सुमित उर्फ नान्हा कुछ दिनों पहले ही अदालत से जमानत पर आया था। देवेन्द्र उर्फ देव ने अपने उपर हुए हमले का बदला लेने के लिए अपने साथियों के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया है। वारदात मे देवेन्द्र उर्फ देव ने पिस्तोल से सुमित उर्फ नान्हा पर फायर किया तथा आरोपी सुमित उर्फ देवा ने चाकू से सुमित उर्फ नान्हा पर हमला किया था। वारदात में शामिल रहे अन्य आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए निरंतर छापेमारी की जा रही है।

LEAVE A REPLY