रिमांड के बाद जेल जाते वक्त फूट-फूट कर रोया लाला गैंग का चीफ अनिल जिंदल और उसके ठग साथी

0
440

नई दिल्ली: बड़े बने तो ऐसे बनें ताकि लोग आपको बड़ा समझें आपकी इज्जत करें। शॉर्टकट रास्ते से बड़ा बनेंगे तो फजीहत संभव है। हरियाणा अब तक ने फरीदाबाद के लगभग सबसे बड़े और मालदार व्यक्ति को बड़ा ठग कहा और यहाँ तक कि हमने उन्हें लाला गैंग का चीफ कहा, हमने उन्हें ये नाम ऐसे ही नहीं दिया, हमें वो लोग प्रदर्शन करते दिखे जिनकी बेटियाँ की अगले माह शादियां थीं, हमें ऐसे लोग प्रदर्शन करते दिखे जिनके बच्चे सड़क पर आ गए थे और हमें ऐसे लोग भी प्रदर्शन करते दिखे जिनके दिल का दो बार दौरा पड़ चुका था, उनकी जिंदगी का कोई भरोषा नहीं था। उस समय ऐसे लोग खून के आंसू रोते देखे गए और उनके से कुछ लोगों के दिल ने तो काम करना भी बंद कर दिया। फरीदाबाद में दो दशकों में कई बदमाश पैदा हुए लेकिन इन बदमाशों ने उतना नहीं लूटा जितना एसआरएस के चीफ अनिल जिंदल, पियूष ग्रुप के गोयल और एक अमित मित्तल नाम के व्यक्ति ने लोगों को लूटा। इन सब ने मिलकर फरीदाबाद के लाखों लोगों को ठगा और इन ठगों के खिलाफ बार-बार प्रदर्शन हुए, प्रदर्शनकारियों ने अपनी पीड़ा बताई तो लगा कि ये ठगों का फरीदाबाद के इतिहास में एक बड़ा गैंग है और यही सब देख हमने इस गैंग को लाला गैंग का नाम दिया था।

इस गैंग ने सबसे ज्यादा अपनों को लूटा, बल्लबगढ़ के वैश्य समुदाय के लोग इनकी लूट का सबसे ज्यादा शिकार हुए और फरीदाबाद में इस समुदाय के लोग जहाँ भी रहते थे और आराम से रोजी-रोटी कमाते थे इस गैंग ने उन सबको लूटा और उनसे रोजी रोटी छीन ली। देश में लालच के कारण लाखों लोग लुटे हैं लेकिन जब लुटेरा कोई अपना हो तो बहुत दुःख होता है। फरीदाबाद के वैश्य समुदाय को इस गैंग ने सबसे ज्यादा लूटा। उन्हें सड़क पर ला दिया और खुद बड़े बड़े महल बनाते चले गए। अरबों का साम्राज्य खड़ा कर लिया। भारत में युगों युगों से चला आया है कि दूसरों को पीड़ा देने वाले ज्यादा दिन तक खुश नहीं रह सकते। देश की 90 फीसदी जनता अब भी देवी देवताओं और भगवान् पर विश्वाश करती है। ये ठग शायद भूल गए थे कि हम उस भारत के निवासी हैं जहाँ गलत लोगों को इंसान तो बर्दाश्त कर लेगा लेकिन भगवन बर्दाश्त नहीं करेगा।

इन ठगों को राजनीतिक संरक्षण बहुत मिला और ये बचे रहे लेकिन नेता कितना भी बड़ा हो वो भगवान् से बड़ा नहीं हो सकता और वर्तमान में फरीदाबाद के शहंशाह कहे जाने वाले जिनका नाम अमिताभ है उन्होंने लाला गैंग के चीफ को गिरफ्तार करवाया और कई दिन के रिमांड के बाद आज एसआरएस ग्रुप के चेयरमेन अनिल जिंदल, विनोद गर्ग उर्फ़ मामा, विशन बंसल, दिनेश अधाना, नानक चंद तायल को आर्थिक अपराध शाखा पुलिस ने अदालत में पेश किया । जहां से अदालत ने सभी को 10 दिनों के लिए न्यायिक हिरासत में नीमका जेल भेज दिया हैं। इन सभी आरोपियों को अब 23 अप्रैल को अदालत में पेश किया जायेगा।

हजारों लोगों को कई वर्षों तक खून के आंसू रूलाने वाले एसआरएस ग्रुप के चेयरमेन अनिल जिंदल,विनोद गर्ग उर्फ़ मामा,नानक चंद तायल ,विशन बंसल, दिनेश अधाना जब जेल जाने के लिये पुलिस बस में बैठने लगे तो उसी वक़्त इन सभी लोगों के आँखों से आंसू टपक रहे थे। और देखते ही देखते वे लोग फुट -फुट कर रोने लगे और इनमें से एक आरोपी विनोद गर्ग उर्फ़ मामा ने एक पड़ोसी शिकायतकर्ता से रोते हुए लहजों में कहा कि राम लाल शर्मा मैं अब जल्दी से बाहर नहीं आ पाऊंगा तू मेरे बच्चों का ध्यान जरूर रखना। फरीदाबाद पुलिस कमिश्नर अमिताभ सिंह ढिल्लों की जितनी तारीफ की जाये कम है। उनकी टीम ने भी बहुत अच्छा काम किया। इन लोगों ने हजारों परिवारों को खून के आंसू रुलाया था, आज रोने की बारी इनकी थी। इस मामले में हरियाणा अब तक ने हाल में जितनी भी ख़बरें पोस्ट कीं उनसे फरीदाबाद पुलिस की तारीफ की जा रही है। एक खबर में कमेंट आया था कि अमिताभ सिंह ढिल्लों शहंशाह की तरह काम कर रहे हैं। कई बदमाश गए, कई बड़े ठग भी जेल चले गए। हद से ज्यादा किसी को न सताएं वरना अंजाम बुरा होगा। ( पुष्पेंद्र सिंह राजपूत )

LEAVE A REPLY