यूपी एटीएस के SP राजेश साहनी ने खुद को गोली मारकर की आत्महत्या, सोशल मीडिया दुखी

0
195

नई दिल्ली: यूपी एटीएस के अपर पुलिस अधीक्षक (एएसपी) राजेश साहनी ने मंगलवार को अपनी सर्विस पिस्टल से दाईं कनपटी पर गोली मारकर खुदकुशी कर ली। वे सोमवार से 10 दिन के अवकाश पर थे, लेकिन सोमवार और फिर मंगलवार को ऑफिस बुलाया गया था।
वे दोपहर 12 बजे दफ्तर पहुंचे और 12.45 से एक बजे के बीच आत्महत्या कर ली। साहनी 1992 बैच के प्रांतीय पुलिस सेवा के अधिकारी थे और मूल रूप से बिहार के पटना के रहने वाले थे। वर्तमान में वे पिथौरागढ़ से पकड़े गए आईएसआई एजेंट रमेश सिंह के मामले की तफ्तीश कर रहे थे।राजेश साहनी की मौत पर सोशल मीडिया पर उनके फैन काफी दुखी दुःख रहे हैं और उन्हें श्रद्धांजलि दे रहे हैं। ‘चार दिना दा मेला दुनिया, फिर मिट्टी दी बन गई ढेरी…,’हम जिन्होंने युद्ध नहीं किया, तुम्हारे शरीफ बेटे नहीं हैं जिंदगी…।’ सोशल मीडिया पर अपनी प्रोफाइल में इन पंक्तियों के साथ जीने वाले उत्तर प्रदेश के एसपी राजेश साहनी की आत्महत्या कोई कोई नहीं पचा पा रहा है। 10 अप्रैल को उन्होंने अपने फेसबुक पेज पर लिखा था कि इश्क़,मोहब्बत, प्यार,वफ़ा,वेबफा जीवन मे इनसे जरूर हो कर गुजरे होगें खुद नही तो दोस्तों की लंबी कहानियों ने आपके कंधों का सहारा लिया होगा । इनमे से कुछ को काग़ज में उतारिये और उन लम्हों को पुनः जिये Juggernaut Books के साथ

जानकारी के अनुसार, साहनी गोमतीनगर स्थित एटीएस कार्यालय पहुंचे और ऑपरेशन के लिए जाने की बात कहकर ड्राइवर मनोज से शस्त्रागार से पिस्टल मंगवाई। पिस्टल देकर मनोज गाड़ी में तेल भरवाने चला गया। उसके जाते ही साहनी ने अंदर से दरवाजा बंद किया और खुद को गोली मार ली।

पुलिस इस बात का जांच कर रही है कि साहनी ने आत्महत्या किसी घरेलू कलह की वजह से या फिर काम के दबाव में तो नहीं लिया? क्या उन पर किसी जांच को लेकर कोई दबाव था? सूत्रों की माने तो छुट्टी दिए जाने के बावजूद एटीएस के अफसरों के पहले सोमवार फिर मंगलवार को ऑफिस बुलाने से वे खिन्न थे। साहनी मंगलवार को परिवार के साथ मुंबई जाने वाले थे। फिरलहाल साहनी के रूम को सील कर दिया गया है। उनके लैपटाप और मोबाइल को कब्जे में लेकर पड़ताल की जा रही है।

LEAVE A REPLY