बेटे की करतूत से दुखी कृषि मंत्री ने विधायक को शांतिदूत बना भेजा सतनाली

0
137

प्रीतम शेखावत, हरियाणा अब तक,महेन्द्रगढ़। सरपंच प्रतिनिधि उदय सिंह शेखावत के पास धमकी भरा फोन करने वाले कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ के बेटे आदित्य धनखंड के विवाद को तूल पकड़ता देख खट्टर सरकार ने मामले को शांत करने के लिए पूर्व सीपीएस एवं रादौर के विधायक को शांन्ति दूत बनाकर सतनाली भेजा। इस दौरान रादौर के विधायक श्याम सिंह राणा ने सतनाली क्षेत्र के राजपूत प्रतिनिधियों से बातचित करके उनके सामने शांति का प्रस्ताव रखा। इसके बाद राजपूत प्रतिनिधियों विधायक श्याम सिंह राणा के समक्ष अपना दुखडा रोया कि उनकी न तो कहीं कोई सुनवाई हो रही है और न ही सतनाली क्षेत्र के राजपूत बाहुल्य के गांवों में कोई विकास कार्य हो रहे है। राजपूत समाज के प्रतिनिधियों ने अपना दुखडा रोते हुए बताया कि सतनाली में सरकारी कार्यालय भ्रष्टाचार के अड्डे बन गए है और स्थानीय विधायक उनकी एक नही सुनता है। पूर्व सीपीएस राणा ने कस्बे के रेस्टहाउस में एकत्रित राजपूत समाज के प्रतिनिधियों, कस्बे व क्षेत्र के अनेक मौजिज लोगों के समक्ष कहा कि जो भी घटनाक्रम सुनने में आ रहा है, उसके अनुसार आपका रोष उचित है। लेकिन हर शिकवे-शिकायत का हल मिल बैठकर आपसी भाईचारे में अच्छा रहता है ताकि समाज में भाईचारा कायम रहे।

उन्होंने कहा कि सोमवार रात करीब 10 बजे कृषि मंत्री ओपी धनखड का फोन आया थ। उन्होंने  कहा कि राणा साहब, ऐसा है कि सतनाली सरपंच प्रतिनिधि उदय सिंह शेखवात और आदित्य के बीच किसी बात को लेकर नाराजगी और विवाद पैदा हो गया है। उसके बारे में मुझे बेहद अफसोस है और यदि आदित्य ने कोई गलती या उनके साथ कोई गलत बात की है तो मैं उसे सजा दूंगा और आप वहां जाकर मेरी तरफ से समाज के लोगों के गिले-शिकवे दूर करें। यदि समाज चाहे तो वे सरपंच प्रतिनिधि व समाज के लोगों से माफी भी मांगने को तैयार हैं। श्याम सिंह राणा ने उपस्थित लोगों से कहा कि ये समझो की ओपी धनखड़ ही आपके समक्ष आया है और माफी मांग रहा है। इस पर समाज के लोगों ने उनकी बात का मान रखते हुए उन्हें आश्वासन दिया कि आप हमारे नेता हैं, आप जैसा उचित समझें, हमें मंजूर होगा। यहां हम आपकों बता दे कि सोमवार देर रात जहां एसपी के माध्यम से मुख्यमंत्री के ओएसडी द्वारा बातचीत के लिए 11 सदस्यीय समिति को बुधवार को चण्डीगढ़ आमंत्रित किया गया है, वहीं भाजपा ने नाराज राजपूत बाहुल्य क्षेत्रवासियों को मनाने के लिए मंगलवार को रादौर से राजपूत विधायक श्याम सिंह राणा को सतनाली भेजा।

उन्होंने नाराज समाज के लोगो व क्षेत्रवासियों से बात कर गिले-शिकवे दूर करने का प्रयास किया। प्रदेश से निर्वाचित एकमात्र राजपूत विधायक श्याम सिंह राणा कस्बे के रेस्ट हाउस पहुंचे। हालांकि औपचारिक तौर पर वे आगामी 19 जनवरी को मनाई जा रही महाराणा प्रताप की पुण्यतिथि का न्यौता देने के लिए सतनाली पहुंचे थे, लेकिन सूत्रों के अनुसार असल मुद्दा तो सरपंच ससुर और कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ के बेटे का विवाद ही था।इस मौके पर सवाई सिंह राठौड़, दीवान सिंह शेखवात, शेर सिंह, दिग्विजय सिंह शेखवात,राकेश शेखवात, सतेंदर सिंह , सरपंच रवि शेखवात जड़वा, राकेश तंवर बसई, मास्टर रायसिंह जड़वा, दादा भान सिंह, राजेन्द्र सिंह समेत अनेको राजपूत प्रतिनिधि मौजूद थे।

LEAVE A REPLY