दो हफ़्तों से नहीं आई नींद, बच्चों को गुफा से बाहर निकालते ही जहा जगह मिली सो गए सुपर हीरो

0
339

नई दिल्ली: थाइलैंड की गुफा में फंसे सभी 12 बच्चों को आज निकाल लिया गया जिसके बाद पूरी दुनिया में खुशी की लहर दौड़ गई है। पूरी दुनिया में बच्चों के लिए प्रार्थना की जा रही थी। स्थानीय मीडिया की मानें तो करीब आठ देशों के एक हजार से ज्यादा जवान और गोताखोर इन बच्चों को निकालने के लिए दो हफ़्तों से गुफा के पास रात दिन काम कर रहे थे। कुछ जवान दो हफ़्तों से घंटे भर भी नहीं सोये थे और आज जैसे गुफा से सभी सभी बच्चों को निकाले जाने का एलान किया गया ये जवान जहां थे वहीं सो गए। इन जवानों की सोशल मीडिया पर जमकर तारीफ़ हो रही है। ये जवान किसी भी देश के हो इन्हे हर देश के लोग सुपर हीरो बता रहे हैं। मालुम हो कि पिछले दो हफ्ते से गुफा में फंसे बच्चों और कोच को निकालने के लिए युद्धस्तर पर रेस्क्यू ऑपरेशन चल रहा था और आज सभी बच्चों को बाहर निकाल लिया गया।

आपको एक बार फिर बता दें कि 23 जून को एक मैच के बाद 12 फ़ुटबाल खिलाड़ी अपने कोच के साथ घूमने निकले थे और गुफा में प्रवेश कर गए थे। जब ये गुफा में प्रवेश कर रहे थे जो मौसम साफ़ था लेकिन कुछ देर बाद भारी बारिश के कारण गुफा में पानी भर गया और ये बच्चे कई किलोमीटर गुफा के अंदर फंस गए। इन्हे ढूंढने का प्रयास किया जा रहा था और कई दिन बाद एक गोताखोर को पता लगा कि बच्चे गुफा में फंसे हैं। कई देशों के एक्सपर्ट इन बच्चों को गुफा से निकालने का प्रयास करने लगे और कहा जाने लगा कि इन्हे निकालने में चार माह लगेगा और गुफा के अंदर आक्सीजन सहित चार महीने का राशन पहुँचाया गया तभी अचानक मौसम विभाग ने चेतावनी दी कि भारी बारिश हो सकती है और पूरी गुफा में पानी भर सकता है। इसके बाद बच्चों को तुरंत निकालने का प्रयास किया जाने लगा तभी शुक्रवार को बच्चों को आक्सीजन ले जा रहे एक जवान की अचानक मौत हो गई लेकिन बचाव दल का हौसला नहीं टूटा। रविवार को चार बच्चे निकाल लिए गए और सोमवार को भी चार बच्चों को निकाला गया और आज चार बच्चों के संग उनके कोच को भी सही सलामत निकाल लिया गया है।

LEAVE A REPLY