खट्टर की मेहरबानी से राम रहीम ने जेल में बना ली गुफा, कर रहा है मौज

नई दिल्ली: हरियाणा सरकार अपनी करनी से कमजोर हो रही है। हर मुद्दे पर फेल हो रही है। खट्टर कहीं 100 करोड़ के विकास कार्यों का उद्घाटन भी करें तब भी सोशल मीडिया पर उन्हें वाहवाही नहीं मिलती, नकारात्मक प्रतिक्रियाएं ही अधिकतर आती हैं जिसे देख लगता है कि प्रदेश की जनता का भाजपा मोहभंग होता जा रहा है। अगर आप सब ट्विटर या फेसबुक का प्रयोग करते हैं तो अपने वाल पर लिखे कि बहुत अच्छा काम कर रही है भाजपा सरकार और बहुत अच्छे मुख्यमंत्री हैं मनोहर लाल, उसके बाद आपके वाल पर कैसे कमेंट्स आते हैं पढ़कर आपको अंदाजा लग जायेगा। अगर लिखेंगे सरकार काम काज नहीं ढोंग कर रही है तो अधिकतर लोग लाइक करेंगे और कहेंगे सरकार उनकी मर्जी के मुताबिक़ काम नहीं कर रही है। जाट आंदोलन, पंचकूला हिंसा, प्रद्युमन मर्डर केस के बाद अब सरकार अपने लाडले बाबा राम रहीम को लेकर फिर घिरने लगी है। अब न्यूज़ एजेंसी एएनआई ने एक युवक का साक्षात्कार पोस्ट किया है।
रोहतक जेल से बाहर आये राहुल नाम के युवक ने एजेंसी को बताया है कि जेल में आम कैदी से मुलाक़ात करने अगर कोई जाता है तो उसे 20 मिनट का समय दिया जाता है और यदि कोई राम रहीम से मिलने जाता है तो उसे दो घंटे दिया जाता है। राहुल ने बताया कि हमने बाबा को कभी काम करने नहीं देखा। यही नहीं जैन ने कहा कि बाबा को जेल प्रशासन इतनी सुविधा दे रहा है कि उनका खाना तक जेल अधिकारी स्पेशल गाड़ी में लेकर जाते हैं। हालांकि कैदी ने बताया कि खाने की वीडियोग्राफी भी की जाती है। दरअसल रोहतक के रहने वाले राहुल जैन एक मामले में सुनारिया जेल में बंद थे और शुक्रवार शाम को ही जेल से जमानत पर बाहर आए हैं।

राहुल जैन ने बाबा पर खुलासा करते हुए कहा कि जब राम रहीम को सुनारिया जेल में लाया गया था तो सब कैदियों को अंदर बंद कर दिया गया था। यहां तक कि कैदियों से हर रोज की तरह मिलने वाला समय भी खत्म कर दिया गया था। कई दिनों तक बंदियों को समर्सिबल ओर टंकी का पानी पीने के लिए मजबूर होना पड़ा था। कैदियों को जो अखबार पढ़ने के लिए मिलते थे उनमें कटिंग होती थी क्योंकि राम रहीम को लेकर जेल के विरुद्ध कोई खबर कैदी न पढ़ सके।

जैन ने कहा कि जेल प्रशासन ने कैदियों को चेतावनी दे रखी है कि कोई भी राम रहीम की बैरक की अोर नहीं जाएगा, यदि कोई जाता है तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई होगी। बाबा से परेशान सभी कैदियों ने उसके विरोध में पहले भी हड़ताल की थी। जैन ने कहा कि जब से राम रहीम के जेल में आने से अन्य कैदियों का जरूरी सामान भी बंद हो गया था। जब जज ने जेल प्रशासन को फटकार लगाई तब कैदियों के लिए जरूरी सामान आना शुरू हुआ। कैदी का आरोप है कि जेल प्रशासन अन्य कैदियों की अपेक्षा राम रहीम की अौर ज्यादा ध्यान देते हैं। इस मुद्दे पर खट्टर सरकार और जेल प्रशासन घिरने लगा है। सोशल मीडिया पर लिखा जा रहा है कि सरकार ने जेल में ही बाबा के लिए गुफा बनवा दी है जहाँ वो मौज कर रहा है। सरकार को हर तरीके से घेरा जा रहा है। सरकार के खिलाफ पहले की तरह ही नकारात्मक प्रतिक्रियाएं आ रहीं हैं।

loading...

Leave a Reply

*