राहुल गांधी का मूत्र पी हम कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को ताकत मिलेगी और मोदी को हरा देंगे: राजा खान

0
1406

नई दिल्ली: मिशन 2019 आधुनिक होता जा रहा है जो आपने कभी नहीं सोंचा होगा आपको वो देखने को मिलेगा, जो आपने कभी नहीं सुना होगा, वो आपको सुनने को मिलेगा। कई कैसे और क्या क्या देखने सुनने को मिलेगा ये सोंच कर आप सिर खुजला सकते हैं अगर आप किसी पार्टी के नेता नहीं हैं तो सोंचने पर मजबूर हो जाएंगे कि नेता लोग ऐसे भी होते हैं। गृह-मंत्रालय के पूर्व अंडर सेक्रेटरी आर.वी.एस. मणि के एक खुलासे के बाद सोशल मीडिया पर कांग्रेसी नेताओं की अजीब प्रतिक्रियाएं आने लगीं हैं।

कांग्रेसी नेता राजा खान ने ट्वीट कर लिखा है कि कमलनाथ जी ने ठीक कहा, राहुल जी का मूत्र पीना नसीब की बात है । कांग्रेस का हर कार्यकर्ता हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष का मूत्र पीने के लिए 24 घण्टे तैयार है, उस मूत्र को पीके हम में जो ताकत आएगी उस से हम मोदी जी को नाको चने चबवा देंगे। उन्होंने लिखा है कि जो लोग कमलनाथ जी का मजाक उड़ा रहे है वो वे है जिन्हें कभी राहुल जी का मूत्र नसीब नही हुआ । उन लोगो के लिए यही कहूंगा, अंगूर खट्टे है ।

आपको बता दें कि गृह-मंत्रालय के पूर्व अंडर सेक्रेटरी आर.वी.एस. मणि ने एक घंटे का एक वीडियो जारी किया है। जिसमें उन्होंने दावा किया है, कि कमलनाथ और उनके साथ दो दूसरे अधिकारियों ने इस मामले में तथ्यों से छेड़छाड़ करने के लिए आर.वी.एस.मणि पर दबाव डाला। लेकिन मणि ने सबूतों को गलत साबित करने वाली कोई भी बयानबाजी करने से इनकार कर दिया। इसी बात पर कमलनाथ ने यह शर्मनाक टिप्पणी की, कि ‘बाहर लोग राहुल गांधी का पेशाब पीने के लिए तैयार हैं और आप इतना भी काम नहीं कर सकते’

गृह-मंत्रालय के पूर्व अंडर सेक्रेटरी आर.वी.एस. मणि ने अपनी पुस्तक हिंदू आतंक में उस समय की घटनाओं के बारे में विस्तार से लिखा है। जिससे यह पता चलता है, कि कैसे सोनिया गांधी की अध्यक्षता में तत्कालीन संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (यूपीए) सरकार का नेतृत्व, वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बदनाम करने और ‘हिंदू आतंक’ की थ्योरी का प्रचार करने के लिए झूठी कहानियां गढ़ रहा था। उधर मणि के इस खुलासे के बाद ट्वीटर पर #पप्पूमूत्र ट्रेंड करने लगा है। कैसी कैसी तस्वीरें लोग पोस्ट कर रहे हैं देखें

LEAVE A REPLY