मुस्लिमों के त्यौहारों पर प्रतिबन्ध लगाने की जुर्रत नहीं, हिन्दुओं के त्यौहार को बनाया बलि का बकरा: गोयल

Protest In Delhi By Hindu Leaders

नई दिल्ली : हिन्दुओं के सबसे बड़े त्यौहार दीपावली के मौका पर पटाखों की बिक्री पर रोक लगाने के सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय के विरूद्ध यूनाईटेड हिन्दू फ्रंट (हिन्दू संगठनों क समूह) की ओर से आज जोरदार रोष प्रदर्शन किया गया। प्रदर्शनकारियों का नेतृत्व फ्रंट के अंर्तराष्ट्रीय महासचिव  जय भगवान गोयल कर रहे थे। प्रदर्शनकारी हनुमान मंदिर निकट प्रगति मैदान मेट्रो स्टेशन पर एकत्रित हुए और सर्वोच्च न्यायालय की ओर नारे लगाते आगे बढ़े। दिल्ली/एनसीआर के अनेक पटाखा विक्रेता भी प्रदर्शन में शामिल हुए।

प्रदर्शनकारियों को सम्बोधित करते हुए श्री गोयल ने कहा कि हिन्दुस्थान में बहुसंख्यक हिन्दुओं के धार्मिक मामलों पर विभिन्न सरकारी एवं अर्धसरकारी अथरिटीज़ द्वारा हस्तक्षेप सहन नहीं किया जा सकता। दीपावली पर पटाखों को छोड़ने की सदियों पुरानी परम्परा को सर्वोच्च न्यायालय ने एकाएक रोक लगाकर जहां हिन्दुओं की आस्था पर ही नहीं कुठाराघात किया बल्कि लाखों-करोड़ो रूपए लगाकर दीपावली पर पटाखे बेचने वालों को भी सड़क पर ला खड़ा किया है। उन व्यापारियों का क्या दोष है जिन्होंने लाईसेंस लेकर पटाखे खरीदे हैं। अब उनके नुकसान की भरपाई कौन करेगा श्री गोयल ने प्रश्न किया कि क्या यहीं प्रतिबंध मुस्लमानों के त्यौहारों पर लगाने की जुर्रत कोई संस्थान कर सकता है। मात्र हिन्दुओं को ही बलि का बकरा बनाना समझ से परे है। गोयल ने आगे कहा कि दीपावली पर हिन्दुओं द्वारा अपना पर्व मनाने पर एक ही दिन में प्रदूषण फैल जाएगा, यह तर्कसंगत नहीं है। सर्वोच्च न्यायालय का स्पष्ट मंतव्य हिन्दुओं को नीचा दिखाना है, प्रदूषण तो मात्र बहाना है।

गोयल ने सर्वोच्च न्यायालय से अपील की कि हिंदू धार्मिक भावनाओं का सम्मान करते हुए पटाखों की बिक्री पर लगाई रोक अविलम्ब वापिस ली जाए। कार्यकर्ताओं ने सर्वोच्च न्यायालय के निकट पटाखे चलाकर पटाखों की बिक्री पर लगी रोक का खुला विरोध प्रकट भी किया।
इस सन्दर्भ में एक ज्ञापन सुप्रीमकोर्ट के मुख्य न्यायधीश एवं राष्ट्रपति को भी दिया गया है जिसमें दीपावली जैसे महापर्व पर पटाखों की बिक्री पर लगी रोक पर पुर्नविचार करने का जोरदार आग्रह किया गया है।

प्रदर्शन में अनेक शीर्षस्थ हिन्दू नेता साधु महात्मा एवं मठाधीश भी सम्मिलित हुए। आज के प्रदर्शन में शामिल होने वाले पदाधिकारियों में सर्वश्री चंद्र प्रकाश कौशिक, महंत नवल किशोर दास, अनिल आर्य, मुकेश जैन, चौधरी ईश्वरपाल सिंह, धर्मेंद्र बेदी, जी.के.रात्रा, राहुल मनचंदा (शेरू), नत्थू राम, विनोद गुप्ता, जयप्रकाश बघेल, श्रीकांत यादव, जितेंद्र यादव, डॉ. महेंद्र सिंह, गंगा राम सैनी, बजरंग बहादुर मिश्रा, राजेश बहोत, सुबोध बिहारी, पूरन सिंह, विनोद जयसवाल, शंकर लाल अग्रवाल, श्रीमति सरोज शर्मा, श्रीमति पूजा शर्मा, सीमा यादव व करिश्मा के नाम उल्लेखनीय हैं जो अपने कार्यकार्ताओं के साथ आए थे।

loading...

Leave a Reply

*