लखनऊ में प्रियंका का सफल रोड शो, कुछ सोंचने पर मजबूर होंगी SP-BSP और BJP

0
171

नई दिल्ली: 2014 के बाद लगातार मिलती जा रही जीत के बाद भाजपा के कई बड़े नेताओं के घमंडी होने के कारण कांग्रेस का कद गुजरात विधानसभा चुनावों के समय बढ़ने लगा और अब भी इसमें बढ़ोत्तरी जारी है। प्रियंका गांधी के मैदान में उतरने के बाद कांग्रेस को संजीवनी सी मिल गई है और आज लखनऊ रोड शो के दौरान कांग्रेस की बढ़ती ताकत का नजारा देखा गया। इस रोड शो में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, नवनियुक्त पार्टी महासचिव (पूर्व) प्रियंका गांधी और महासचिव (पश्चिम) ज्योतिरादित्य सिंधिया सहित कई बड़े नेताओं ने भाग लिया।
लोकसभा चुनाव से पहले महासचिव बनाकर मिशन यूपी पर भेजी गईं प्रियंका गांधी के लखनऊ रोड शो को सफल बताया जा रहा है और आज प्रियंका गांधी ने अपनी सियासी पारी की शुरुआत की।

उत्तर प्रदेश जहाँ सपा बसपा का गठबंधन है यहाँ कांग्रेस कितना कमाल कर पाती है ये तो समय बताएगा लेकिन प्रियंका का आगाज काफी हद तक सफल रहा है। लखनऊ रोड शो की भीड़ देख भाजपा नेता एवं सपा बसपा नेता आज बहुत कुछ सोंच रहे होंगे। 1989 में कांग्रेस के हाँथ से उत्तर प्रदेश की सत्ता जाने के बाद अब तक कांग्रेस कमजोर ही होती जा रही थी। क्षेत्रीय पार्टियों के उभार के दौर में कांग्रेस का संगठन भी कमजोर होता चला गया। चुनाव दर चुनाव कार्यकर्ता पार्टी से दूर होते चले गए। प्रियंका के आने के बाद कुछ जोश देखा जा रहा है। लोकसभा चुनावों में यूपी में कांग्रेस दहाई का आंकड़ा छू ले तो इसे प्रियंका का कमाल कहा जाएगा।

भाजपा की बात करें तो पार्टी यूपी में पिछले चुनावों की तरह शायद ही कमाल कर सके जिसका कारण है कि अधिकतर सांसद जनता की उम्मीदों पर खरे नहीं उतरे। पहली बार सांसद बने कई नेताओं ने जनता से ज्यादा अपना भला चाहा। भाजपा हाईकमान ने भी कुछ ख़ास नहीं किया। यूपी की जनता ने पिछले लोकसभा और विधानसभा चुनावों में भाजपा का जिस तरह से साथ दिया था उस तरह से भाजपा ने यूपी का साथ नहीं दिया। इसलिए भाजपा को पहले से कम सीटें मिल सकतीं हैं। देश की बात करें तो कई बड़े भाजपा नेताओं का घमंडी होना उन्हें 2019 यानी जल्द होने वाले लोकसभा चुनावों में नुकसान पहुंचा सकता है। इन घमंडी नेताओं में ऐसे भी नेता शामिल हैं जिन्हे पहली बार मोदी लहर के कारण संसद में जाने का मौका मिला और इन नेताओं ने कमाना शुरू कर दिया और इनकी पोलपट्टी जनता के पास पहुँच गई और जनता इन्हे सबक सिखाने को तैयार बैठी है।

LEAVE A REPLY