पहले नोटबंदी झेली फिर जीएसटी और अब पटाखाबंदी, व्यापारियों का कहना है अब क्या करें हम

Pehle note bandhi ki maar, phir GST ki maar aur ab yeh, hum kya karen? : Businessman, Delhi

नई दिल्ली: दिल्ली एनसीआर में पटाखों की बिक्री पर बैन के मामले में आज सुप्रीम कोर्ट में अहम् सुनवाई होने वाली है जिस पर हजारों पटाखा व्यापारियों की निगाहें लगी रहेंगी। जस्टिस एके सीकरी की अध्यक्षता वाली पीठ इस मामले की सुनवाई करेगी। याचिका में सर्वोच्च न्यायालय से उसके नौ अक्टूबर के आदेश में संशोधन की मांग की गई है। व्यापारियों ने बुधवार को अदालत से इस मामले में जल्द सुनवाई का अनुरोध किया था। उनका कहना था कि वे पटाखे खरीदने में काफी पूंजी लगा चुके हैं और यदि प्रतिबंध जारी रहा, तो उनको भारी नुकसान उठाना पड़ेगा। व्यापारियों का कहना है कि पहले हमने नोटबंदी झेली फिर जीएसटी को भी झेलना पड़ा और अब पटाखाबंदी से हम पूरी तरह से बर्बाद होने के कगार पर खड़े हैं। एक पटाखा व्यापारी का कहना है कि हम पटाखों की खरीद पर 28 फीसदी जीएसटी दे चुके हैं और अब सुप्रीम कोर्ट ने हमारे पटाखा बेंचने पर बैन लगा दिया ऐसा में हम अब कहाँ जाएँ कुछ समझ में नहीं आ रहा है, हम पूरी तरह से तवाह होने लगे हैं।

loading...

Leave a Reply

*