वकील दीपिका सिंह और शेहला रशीद की तस्वीर वाइरल, क्या JNU में रची गई कठुआ केस की साजिश?

0
413

नई दिल्ली: कठुआ गैंगरेप पीड़िता के पक्ष से केस लड़ रहीं वकील दीपिका सिंह राजवंत ने अपनी जान का खतरा होने की बात कही। दीपिका ने कहा कि मेरा भी रेप हो सकता है या हत्या करवाई जा सकती है। इस मामले में कुछ न कुछ गड़बड़झाला जरूर लगता है।अब मामले के कथित षडयंत्रकारी सांजी राम ने कहा है कि मामले की सीबीआई जांच में अगर वह दोषी पाए जाते हैं तो उन्हें सामूहिक रूप से फांसी की सजा दे दी जाए। वहीं सांजी राम के परिवार के सदस्यों ने नैशनल मीडिया की आलोचना की और कहा कि पत्रकार बिना जांच किए फैसले दे रहे हैं। सोशल मीडिया पर लोग इस मामले को कुछ और बता रहे है। लोग मामले को एक साजिश बता रहे हैं। आरोपियों में माथे पर तिलक है इसलिए जितने मुँह उतनी बातें सामने आ रहीं हैं और मामले में पीड़ित का केस लड़ने वाली वकील साहिबा पर भी अब सवाल उठने लगे हैं। कहा जा रहा है कि दिल्ली का जेएनयू जहाँ भारत तेरे टुकड़े होंगे के नारे लगते हैं वहीं बैठकर कश्मीर को भारत से अलग करने की ये साजिश रची गई है। ताकि सच में उनके मंसूबे कामयाब हो जाएँ और भारत के टुकड़े होने की शुरुआत हो जाए। सोशल मीडिया पर कठुआ केस में मृतक आसिफा की वकील दीपिका सिंह राजावत की जेएनयू की शेहला राशिद के साथ एक तस्वीर वायरल हो रही है जिसकी वजह से शक गहरा रहा है कि कहीं कठुआ मामले में हिन्दुओं और हिन्दू मंदिरों को बदनाम करने की साजिश के पीछे JNU का आजादी गैंग तो नहीं है।

समझने वाले समझ सकते हैं कि कठुआ केस की साजिश के पीछे मुख्य वजह जम्मू और कश्मीर को एक दूसरे से अलग करना है, जम्मू में हिन्दू आबादी अधिक है जबकि कश्मीर में मुस्लिम आबादी अलग है। कश्मीर की आजादी की मांग की जा रही है और आजादी गैंग भी इसका समर्थन करता है। इसीलिए कठुआ की साजिश रची गयी है, आसिफा का क़त्ल करके उसका इल्जाम कुछ हिन्दुओं पर डाला गया है ताकि जम्मू के हिन्दुओं में नाराजगी बढ़े, सरकार के खिलाफ गुस्सा फूटे और अलगाव की हवा बहे। इस मामले की CBI जांच की मांग की जा रही है और होनी भी चाहिए, CBI जांच की मामले का सच सामने ला सकती है। सोनम महाजन का ट्वीट पढ़ें

 

LEAVE A REPLY