फरीदाबाद में वीर बहादुर पर जानलेवा हमला

0
445
Man Attacked in Faridabad

फरीदाबाद 19 नवम्बर। एनआईटी विधानसभा क्षेत्र स्थित वार्ड 9 में आज एक बार फिर गुण्डातत्वों द्वारा पूर्वांचली प्रवासी वीर बहादुर कुशवाह पर जानलेवा हमला किया एवं लूटपाट भी की। जिन्हे घायलवस्था में बादशाह खान अस्पताल लाया गया जहां उनकी हालत चिंताजनक है यह बताते हुए समाजसेवी संतोष यादव ने बताया कि कुछ शरारती एवं गुण्डातत्व आज भी एनआईटी क्षेत्र के विभिन्न वार्डो में काफी आंतक फेलाने का प्रयास कर रहे है जिसे हम किसी भी कीमत पर सहन नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि पूर्वांचल समाज कोई छोटा समाज नही है अगर उस पर बेवजह किसी तरह से दबाव एवं डरा धमकाया जायेगा तो हम मुख्यमंत्री सहित प्रधानमंत्री तक से भी मिलकर इन गुण्डातत्वो एवं इनके संरक्षण देने वालों के खिलाफ मोर्चा खोल देंगे। उन्होंने कहा कि चौकी, थानो में बदमाशों पर छोटे छोटे मामलो पर राजी नामा कर दिया जाता है जिसकी वजह से इन बदमाशो के हौसले बुलंद हो जाते है और वह इस तरह से किसी पर भी हमला आदि कर अपना दबदबा बनाना चाहते है जिसे हम सहन नही करेंगे और हम पुलिस आयुक्त से मांग करते है कि वह चौकी थानो में राजी नामा जैसी प्रक्रिया को समाप्त कर आरोपियो के खिलाफ सजा लागू की जाये।

संतोष यादव ने बताया कि उन्होंने जब इस मामले की जानकारी पर्वतीय चौकी इंचार्ज और सारन थाना एसएचओ को जानकारी दी तो उन्होंने तुंरत प्रभाव से कार्यवाही करते हुए हमलावरो पर एफआईआर दर्ज करते हुए 341,452,379,323,506,34 धाराओ के तहत मामला दर्ज कर दिया है।घायल वीरबहादुर ने बताया कि हमारी गली में जितेंद्र भाटी गुंडागर्दी करता रहता है और आज सुबह जितेंद्र भाटी और इसके साथ 5 लोगों ने बेवजह मुझ पर तलवार, रॉड और डंडों से हमला कर दिया और मेरे साथ लूटपाट की।

इस मौके पर समाजसेवी संजीव कुशवाह,मनीष शर्मा,आसिष मौर्य,यसवंत मौर्य, मनोज पाण्डे, रवि, दीपक जैसवाल, अशोक, भरत, दिनेश, राम अवतार यादव, रमाकांत, प्रदीप, मनीष शर्मा, राम निवास कुश्वाह, आशीष मोर्य और संतोष जैस्वाल सहित सैकडो उपसिथत पूर्वांचल प्रवासियों ने भी इस मामले की घोर निंदा की और कहा कि हमें पुलिस प्रशासन पर पूर्ण विश्वास है कि वह जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार का वीर बहादुर को न्याय दिलवायेंगे। संतोष यादव ने कहा कि अगर वीर बहादुर के हमलावरो को जल्द से जल्द गिरफतार नही किया गया एवं उन्हे सख्त से सख्त सजा नही दी गयी तो हम आंदोलन की राह अपनाने पर मजबूर हो जायेंगे।

LEAVE A REPLY