फेसबुक पर महिला के नाम से दोस्ती कर धंधे का लालच देकर ठगने वालों को हरियाणा पुलिस ने दबोचा

0
97
Man Arreted by Gurugram Police For Fraud

चण्डीगढ़, 12 जनवरी- हरियाणा पुलिस की साइबर अपराध शाखा ने गुरुग्राम से हर्बल सीड्स का व्यवसाय करने के नाम पर धोखाधड़ी करने वाले 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया है, जिनमें से दो नाईजीरियन हैं। आरोपियों से लगभग 2.50 लाख रुपये की नकदी, लैपटाप तथा मोबाइल फोन बरामद हुए हैं।
पुलिस विभाग के एक प्रवक्ता ने बताया कि यह गिरोह फेसबुक एवं मैसेन्जर के माध्यम से आम लोगों के साथ मित्रता करके व उनका विश्वास हासिल करके व्यवसाय करने के नाम पर उनसे मोटी रकम हङ़पता था। उन्होंने बताया कि गुरुग्राम पुलिस को दी एक लिखित शिकायत में शिकायतकर्ता ने बताया कि उसके पास फेसबुक मैसेन्जर पर किसी जेकलिन ओरलेना नामक महिला की फ्रेन्ड रिक्वेस्ट आई थी, जिसको उसने स्वीकार कर लिया। कुछ दिनों बाद उस महिला ने उससे हर्बल सीड्स के व्यवसाय में व्यय करने बारे कहा। इस पर शिकायतकर्ता उसकी बातों में आ गया तथा उसने इस बारे में अपनी सहमति जाहिर कर दी। उसके बाद उस महिला के कहे अनुसार पोल रेमन्ड नामक एक नाईजीरियन व्यक्ति शिकायकत्र्ता के घर पर हर्बल सीड्स की गुणवत्ता जाँचने आया तथा उससे हर्बल सीड्स लेकर चला गया। इस पर शिकायतकर्ता ने उस महिला द्वारा बताये गये खाते में लगभग 32 लाख रुपये ट्रांसफर कर दिये। शिकायकर्ता ने जब उस महिला से पुन: मैसेन्जर एवं उसके द्वारा दिये गये अन्य मोबाईल नम्बर पर फोन करने का प्रयत्न किया तो उनके सभी नम्बर बन्द मिले।

प्रवक्ता ने बताया कि इस सम्बन्ध में 28 दिसम्बर,2017 को थाना सैक्टर-56, गुरुग्राम में 32 लाख रुपये की ठगी का मामला दर्ज किया गया, जिसकी जाँच साइबर अपराध शाखा को सौंपी गई। पुलिस टीम ने उन बैंक खाताधारकों को गिरफ्तार करके पूछताछ की, जिनके बैंक खातों मेें शिकायतकर्ता द्वारा पैसे जमा करवाये गये थे। पूछताछ के दौरान ज्ञात हुआ कि एक खाताधारक का नाम राधेश्याम है तथा वह नीरज वर्मा नाम के नाम पर नकली बैंक खाता खुलवाता है। इसके फलस्वरूप उसको लोगों से की गई ठगी की रकम में से एक प्रतिशत हिस्सा मिलता है तथा दूसरा खाताधारक फैजान खान बैंक से पैसे निकलवाने में उसका सहयोग करता है। इसके अलावा, ठगी के इस कार्य में कुछ नाईजीरियन लोग भी शामिल हैं।

उन्होंने बताया कि पुलिस टीम द्वारा 5 जनवरी, 2018 को इस ठगी में संलिप्त अन्य नाईजीरियन इडविन तथा माईक हैसी को गिरफ्तार किया गया। पूछताछ में आरोपी माईक हैसी ने खुलासा किया कि वह पोल रेमण्ड बनकर शिकायतकर्ता से मिलने के लिये उसके घर पर गया था। आरोपी ने यह भी खुलासा किया कि उनके इस ठगी के कार्य में कुछ अन्य नाईजीरियन भी संलिप्त हैं। इन दोनों आरोपियों इडविन तथा माईक हैसी को आज न्यायालय में पेश किया गया।

प्रवक्ता ने बताया कि इस मामले में जिन बैंक खातों में शिकायतकर्ता द्वारा पैसे डलवाने की जानकारी मिली है, उन सभी खातों की खाता विवरणी के अवलोकन से ज्ञात हुआ कि उन बैंक खातों में लगभग 3 करोड़ रुपये अन्य व्यक्तियों द्वारा भी डलवाए गये हंै। इससे पता चलता है कि इन नाईजीरियन लोगों द्वारा अन्य लोगों से भी व्यवसाय के नाम पर धोखाधड़ी करके पैसे ऐंठे गए हैं ।

LEAVE A REPLY