भाजपा में शामिल हुए मेजर सुरेंद्र पूनिया, मोदी को मिला एक जांबाज चौकीदार

0
446

नई दिल्ली: लोकसभा चुनावों में भाजपा का कुनवा बढ़ता जा रहा है। पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर के बाद मेजर सुरेंद्र पूनिया ने भी भाजपा का दामन थाम लिया है। भाजपा के वरिष्ठ नेता जेपी नड्डा और रामलाल की मौजूदगी में मेजर पूनिया ने भाजपा का दामन थामा। संभव है कहीं से वो लोकसभा चुनाव भी लड़ें।

राजस्थान के सीकर के लक्ष्मणगढ़ तहसील के राजपुरा गांव के निवासी मेजर सुरेंद्र पूनिया का नाम लिम्का बुक ऑफ रिकॉड्र्स में शामिल है। पूनिया को यह खिताब 2010 से लेकर 2013 तक खेलों में 21 अंतरराष्ट्रीय पदक जीतने पर दिया गया था । मेजर पूनिया भारत के पहले डॉक्टर हैं, जिन्होंने इतने पदक हासिल किए हैं। इसी की बदौलत लिम्का बुक ऑफ रिकॉड्र्स के 2014 के नए अंक में सीकर के मेजर पूनिया के रिकॉर्ड को जगह दी गई.

26 जनवरी 2013 में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी मेजर पूनिया को विशिष्ट सेवा पदक से सम्मानित कर चुके हैं। वहीं इससे पहले पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम व प्रतिभा देवी सिंह पाटील के हाथों भी पूनिया सम्मानित हो चुके हैं।
मेजर पूनिया राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी व प्रतिभा देवी सिंह पाटील के बॉडीगार्ड रह चुके हैं। मेजर सुरेंद्र लगातार चार बार पॉवर लिफ्टिंग में चार गोल्ड मेडल हासिल कर चुके हैं। इन्होंने 2010 में क्रोएशिया में पॉवर लिफ्टिंग में गोल्ड मेडल लिया था। इसके बाद 2011 में स्पेन व 2012 में तुर्की तथा 2014 में वापस क्रोएशिया में गोल्ड मेडल पर कब्जा जमाया था। मेजर कई वर्षों तक जम्मू-कश्मीर में अपने सेवायें दे चुके हैं और जेहादियों और पत्थरबाजों के खिलाफ हमेशा ट्विटर पर कुछ न कुछ लिखते रहते हैं।

LEAVE A REPLY