हीटर, अंगीठी भी नहीं, सर्दी में ठिठुर रहे हैं भगवान् राम, मीलार्ड दे रहे हैं तारीख पर तारीख, भड़के लोग

0
210

नई दिल्ली: अयोध्या राम मंदिर-बाबरी मस्जिद जमीन के मालिकाना हक के विवाद को लेकर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई अगले साल तक टल गई है। मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई के नेतृत्व में तीन नए जजों की बेंच ने सुनवाई करते हुए मामला 2019 तक टाल दिया। जनवरी में यह तय होगा कि कौन सी बेंच इस मामले की सुनवाई करेगी और इसकी अगली तारीख भी तब ही तय होगी। इस बेंच में चीफ जस्टिस रंजन गोगोई के अलावा जस्टिस कौल और जस्टिस केएम जोसेफ शामिल हैं। सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद सोशल मीडिया पर दोपहर से तरह तरह की प्रतिक्रिआएं आ रहीं हैं।सोशल मीडिया पर कहा जा रहा है कि कलयुग चल रहा है। भगवान् राम टेंट में हैं, सर्दी में ठिठुर रहे है और मीलार्ड तारीख पर तारीख देते जा रहे है। सर्दी पर एक वीडियो भी आप देख सकते हैं जो थोड़ा पुराना है लेकिन?

इस स्क्रीन शाट में लिखा है कि सुनवाई रोकने की साजिश की जा रही है।


दिल्ली के पूर्व मंत्री कपिल मिश्रा ने कुछ ट्वीट किये हैं जिसमे लिखा गया है कि हनुमान जी की पूंछ लंबी हो रही थी, निशाचर नाच रहे थे, और कपड़ा बांधो, और घी तेल डालो। पूंछ लंबी होती जाती, निशाचर खुश होते जाते, आज जलती हुई पूंछ देखेंगे, लेकिन दिखी जलती हुई लंका

ये हैं मंदिर की लंबी होती सुनवाई से खुश होने वाले मंदिर विरोधियों का भविष्य
एक और ट्वीट में उन्होंने लिखा है कि माई लार्ड, तुम राम लला के केस में तारीख़ देते रहो,
लेकिन जिस दिन राम लला के यहां तुम्हारे केस की तारीख़ पड़ गई उस दिन क्या करोगे?

भाजपा नेता तेजिंदरपाल बग्गा ने लिखा है कि

LEAVE A REPLY