गोबर के उपले थापने वालों ने किया डिवाईडर रोड पर पर कब्जा

0
245

कुरुक्षेत्र,13फरवरी राकेश शर्मा: पॉश सैक्टरों में आशियाना बनाने वाले लोगों का सपना उस समय धूमिल हो जाता है, जब उन्हें सैक्टरों में गांव से भी बदतर हालात मिलते हैं। ऐसे में लाखों रुपया खर्च करने के बाद भी उन्हें बेहतर सुविधाएं नही मिल पाती। इसका प्रमाण सैक्टर 30 व सैक्टर 29 के मध्य बनी डिवाईडर रोड है, जिस पर गांव कलाल माजरा के ग्रामीणों ने गोबर के उपले थाप कर हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के दावों की पोल खोल दी है। सड़क के किनारों पर रखे गोबर के उपलों से जहां सैक्टर का सोदर्यकरण बिगड़ रहा है, वही स्वच्छता अभियान को भी ठेस पहुंच रही है।

सैक्टर 29 जिंदल ग्लोबल सिटी में हाउंसिग बोर्ड हरियाणा द्वारा गरीब लोगों के लिए 2 मरले के फ्लैट आबंटित किए गए है। कई वर्ष पहले बने इन फ्लैटों का पिछले साल फ्लैट मालिकों को कब्जा दिया गया था। काफी लोगों ने इन फ्लैटों में रहना शुरु कर दिया है। इन फ्लैटों के साथ ही सैक्टर 30 व 29 सैक्टर की बहुत बड़ी सड़क है। दूसरी ओर 30 सैक्टर भी गांव कलाल माजरा के साथ लगता है। फ्लैट मालिक रविंद्र कुमार ने बताया कि कुछ महीने पहले उन्होंने बड़े चाव से अपना लैट रंग-रोगन कर रहना शुरु किया था। उसने इस उम्मीद के साथ यहां पर फ्लैट खरीदने की तरजीह दी थी कि उसे गांव से अधिक सुविधांए मिलेगी। लेकिन यहां पर गांव से बदत्तर हालत हैं। सैक्टर के डिवाईडर रोड पर ग्रामीणों ने गोबर के उपले थाप कर कब्जा कर लिया है। जिसके चलते यहां पर वातावरण दूषित होने के कारण मच्छर पैदा हो रहे है। दूसरी ओर गोबर के उपलों से स्वच्छता अभियान को भी ठेस पहुंच रही है। वे इस बारे में कई बार अधिकारियों को शिकायत कर चुके है। लेकिन आज तक उपलों को सड़क से नही हटाया गया है।
इस बारे में हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के संपदा अधिकारी योगेश रंगा से बातचीत की गई तो उन्होंने बताया कि डिवाईडर रोड की देख रेख का जिम्मा नगरपरिषद के पास है। सैक्टर के अंदरूनी सड़को पर हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण पर जिम्मेवारी रहती है।

LEAVE A REPLY