हुड्डा के सामने रूठ जाते थे पंडित जी तो 10-20 करोड़ विकास के लिए झटक ही लाते थे

0
722

फरीदाबाद: रात्रि लगभग तीन बजे अंतिम सांस लेने वाले हरियाणा के पूर्व मंत्री पंडित शिव चरण लाल शर्मा बीमारी के बाद एक निजी अस्पताल में दाखिल थे। एक दिन पहले उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था लेकिन वेंटिलेटर हट गया और परसों उन्हें स्वाथ्य में काफी सुधर हुआ और वो बोलने लगे लेकिन अचानक फिर उनकी तबियत ख़राब हो गई और रात्रि 2 बजकर 52 मिनट पर उन्होंने अंतिम सांस ली। पंडित जी ने 2009 में निर्दलीय चुनाव लड़ा और कांग्रेस की हुड्डा सरकार को समर्थन देकर प्रदेश के मंत्री बने। मंत्री बनते ही एनआईटी विधानसभा के कई स्कूल, कालेज, हॉस्पिटल, पार्क बनवाये। क्षेत्र की तकरीबन 80 फीसदी सड़कें सीमेंटेड बनवाईं।
उस दौरान पंडित जी से जब पूंछा जाता था कि क्षेत्र के विकास के लिए आप इतने पैसे कैसे लाते हैं तो उन्होंने बताया कि जब क्षेत्र में बड़े विकास कार्यो के लिए ज्यादा पैसों की जरूरत होती थी तब मैं सीएम भूपेंद्र हुड्डा के पास जाता था और जाकर चुपचाप बैठ जाता था। सीएम हुड्डा मेरे जाते ही कहते थे कि पंडित आया है कुछ खास बात है और वो पूंछते थे कि पंडित जी क्या बात है और कितने पैसे चाहिए। जब पंडित जी हुड्डा से कई करोड़ के विकास कार्यो की बात करते थे तो एक बार तो हुड्डा जी मना कर देते थे। इसके बाद पंडित जी वहाँ से उठते नहीं थे। एक तरह से पंडित जी वहाँ रूठकर चुपचाप बैठ जाते थे और फिर हुड्डा का दिल पिघल जाता था और वो बड़े विकास कार्यों की मंजूरी प्रदान कर देते थे।

शिव चरण लाल के कई सपने थे। क्षेत्र वालो के लिए पीने के पानी के लिए बहुत बड़ा प्रोजेक्ट लाना चाहते थे लेकिन पिछले चुनावों में उन्हें विजय श्री नहीं मिल सकी। उम्र अगर न हराती तो इस बार कुछ अलग हो सकता था। उनके निधन से आज जवाहर कालोनी की बाजारें बंद हैं। हर कोई उनके घर पहुँच उन्हें श्रद्धांजलि दे रहा है। दोपहर 11 बजे उनका शव उनके जवाहर कालोनी घर से प्याली चौक तक अंतिम यात्रा के रूप में ले जाया जाएगा जहाँ से उत्तर प्रदेश के गढ़ गंगा ले जाया जायेगा और वहीं उनका अंतिम संस्कार होगा।

LEAVE A REPLY