खेड़ी के पूर्व सरपंच पर एफआईआर दर्ज करने के निर्देश

0
159

नारनौल, 17 जनवरी। मुख्यमंत्री सुशासन सहयोगी के प्रोजेक्ट डायरेक्टर राकेश गुप्ता ने गांव खेड़ी के पूर्व सरपंच द्वारा विभिन्न कार्यों में सरकार को वित्तीय हानि पहुंचाने पर एफआईआर दर्ज करने के निर्देश दिए हैं। श्री गुप्ता आज वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश के उपायुक्तों की विभिन्न विषयों पर बैठक ले रहे थे। इस बैठक में इस शिकायत के बारे में पूछा तो उन्होंने मामला दर्ज करने के निर्देश दिए।
गौरतलब है कि 14 फरवरी 2017 में खेड़ी के सतेंद्र सिंह यादव ने सीएम विंडो पर शिकायत पर उपायुक्त ने एडीसी की अध्यक्षता में एक एसआईटी गठित करने के निर्देश दिए थे। एसआईटी ने मामले की गहनता से जांच की जिसमें संबंधितों के बयान दर्ज कर सबूत पेश किए गए। इस दौरान पूर्व सरपंच द्वारा खरीदे गए सामान की गिनती भी की गई।


रिपोर्ट में कहा गया है कि ग्राम पंचायत खेड़ी द्वारा 116 सोलर लाइट की खरीद की गई थी जिसके लिए कुल 1933952 रुपए का भुगतान पंचायत फंड व टीएफसी से किया गया था। इसके लिए पंचायत ने केवल कोटेशन के आधार पर बिना अधिकारियों की स्वीकृति अपने स्तर पर खरीद की थी। जांच करने पर मौके पर केवल 109 लाइटें ही मिली थी।

इसके अलावा 448060 रुपए की हाई मास्क लाइट की अदायगी भी पंचायत फंड से की गई। इसमें भी अनियमितताएं पाई गई। इसी प्रकार 503076 रुपए की स्ट्रीट लाइट, 400464 रुपए की सिमेंटिड सीट तथा 210000 रुपए के डस्टबीन खरीद में भी भारी अनियमितताएं पाई गई।
अतिरिक्त उपायुक्त की अध्यक्षता में गठित एसआईटी द्वारा की गई जांच के आधार पर पूर्व सरपंच द्वारा सरकार को कुल 505650 रुपए की वित्तीय हानि पहुंचाने का दोषी माना है।
इस बैठक में श्री गुप्ता ने लिंगानुपात, सीएम विंडो, सीएम घोषणाएं सहित विभिन्न विषयों पर बारी-बारी से समीक्षा की।

LEAVE A REPLY