आधार कार्ड के बिना शहीद की पत्नी का नहीं हुआ इलाज, मौत के बाद खट्टर ने दिए जांच के आदेश

0
345

चंडीगढ़: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सोनीपत की अस्पताल में आधार कार्ड मामले हुई मौत को संज्ञान में लेते हुए जांच के आदेश दिए हैं। उन्होंने कहा कि जाँच में अगर कोई दोषी पाया गया तो कड़ी कार्यवाही की जाएगी। मालुम हो कि हरियाणा के सोनीपत जिले में एक हॉस्पिटल में बिना आधार कार्ड के इलाज नहीं किया और मरीज की मौत हो गई। कारगिल में देश के लिए जान देने वाले की पत्नी का इलाज करने से अस्पताल ने इंकार कर दिया क्योंकि उनके पास आधार नहीं थी।

ये आरोप है शहीद लक्षमण दास के बेटे पवन कुमार के जिन्होंने अपनी मां को खो दिया है। उन्होंने कहा कि जब वे अपनी मां को लेकर अस्पताल पहुंचे तो उनसे आधार कार्ड की मांग की गई। उस वक्त उनके पास कार्ड नहीं था। इसी कारण अस्पताल ने उनकी मां को भर्ती करने से इंकार कर दिया , नतीजा, उनकी मां की मृत्यु हो गई। अस्पताल का कहना है कि उन्होंने कभी किसी के इलाज के लिए इंकार नहीं किया , उन्होंने कहा कि अगर मरीज की स्थिति नाजुक है तो उसे तुरंत दाखिल कर इलाज किया जाता है। इस मामले में भी मरीज को इमरजेंसी वार्ड में लाया गया था लेकिन परिजन उन्हें अपनी मर्जी से ले गए। इस मामले में सरकार की भी जमकर फजीहत होगी।

LEAVE A REPLY