लोकसभा चुनावों में भाजपा को वोट नहीं देंगे जाट: यशपाल मलिक

0
194

नई दिल्ली: चुनावों में अगर कुछ लोगों को भाव नहीं मिलता तो वो कुछ लोगों को मोहरा बनाकर खुद को चमकाने का प्रयास करते हैं। ये बातें सोशल मीडिया पर जाट नेता यशपाल मलिक के लिए कही जा रहीं हैं जिन्होंने एलान किया है कि लोकसभा चुनावों में जाट समुदाय के लोग भाजपा को वोट न दें। मलिक के बारे में कहा जा रहा है कि ऐसी चेतवानी लेकर वो चाहते हैं कि कोई बड़ा नेता उन्हें पुचकारें या उन्हें कहीं से लोकसभा की टिकट दे दे तब वो खामोश बैठ जाएंगे। आपको बता दें कि आखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति ने लोकसभा चुनाव में भाजपा के खिलाफ आंदोलन चलाने का फैसला किया है। जाटों ने कहा है कि भाजपा को सता में आने से रोकने के लिए फरवरी के अंतिम सप्ताह में दिल्ली में रणनीति तैयार की जाएगी। जाटों ने कहा कि देशभर में 100 से अधिक लोकसभा सीटों पर जाटों का सीधा प्रभाव है, जिन पर भाजपा का विरोध किया जाएगा।

जाटों ने केंद्र व प्रदेश सरकार पर वादा खिलाफी का आरोप लगाया है और कहा कि सरकार ने न तो जाटों को आरक्षण दिया और न ही जेल में बंद युवाओं को रिहा किया। 3 दिन चले चिंतन शिविर में हरियाणा, दिल्ली सहित कई प्रदेशों से जाट समाज के लोगों ने शिरकत की और फैसला लिया कि जब तक जाटों की मांग नहीं मानी जाती, तब तक आंदोलन जारी रहेगा।

रविवार को गांव जसिया स्थित छोटूराम धाम में आखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति द्वारा तीन दिवसीय चिंतन शिविर के समापन पर कई फैसलों पर मुहर लगाई गई। शिविर में आए कई प्रदेशों के जाट समाज के लोगों ने कहा कि सरकार ने जाटों के साथ धोखा किया है, जिसे बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष यशपाल मलिक ने कहा कि प्रदेश सरकार के साथ मांगों को लेकर तीन बार वार्ता हुई और सरकार ने वादा किया था कि उनकी मांगें मान ली जाएंगी, लेकिन सरकार ने वादा खिलाफी की। चिंतिन शिविर में फैसला लिया गया है कि जल्द ही लोकसभा चुनाव की घोषणा होने वाली है और इन लोकसभा चुनाव में जाट समाज भाजपा के खिलाफ प्रचार प्रसार करेगा। भाजपा को केंद्र में सरकार बनने से रोकने के लिए फरवरी के अंतिम सप्ताह में राष्ट्रीय कोर कमेटी की बैठक बुलाकर रणनीति तय की जाएगी।

LEAVE A REPLY