मलिक की चेतावनी, एक घंटे के मैसेज में खड़ा कर दूंगा हरियाणा में बड़ा आंदोलन

0
539
Yashpal Malik Attacked New Update

चंडीगढ़/ रोहतक: हरियाणा विधानसभा चुनाव जैसे जैसे नजदीक आ रहे हैं ठीक वैसे वैसे जाट नेता यशपाल मलिक फिर प्रदेश में सक्रिय दिखाई दे रहे हैं और भाजपा सरकार पर दबाव बनाने लगे हैं। अब अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति ने सरकार को चेताया है कि एक घंटे के मैसेज के अंदर अंदर प्रदेश में इतना बड़ा आंदोलन कर दिया जाएगा कि सरकार को समझ में नहीं आएगा। सीबीआई द्वारा युवकों की जा रही गिरफ्तारी को लेकर भी संघर्ष समिति ने कड़ी आपत्ति जताई। बृहस्पतिवार को गांव जसिया में अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति की बैठक हुई। बैठक में समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष यशपाल मलिक ने भी शिरकत की।
समिति का आरोप है कि सीबीआई सरकार के इशारे पर काम कर रही है, जबकि जाट आरक्षण हिंसा की साजिश रचने वाले कैप्टन अभिमन्यु व कृषिमंत्री ओमप्रकाश धनखड़ हैं। इस दौरान कहा गया कि आरक्षण हिंसा के जिम्मेदार मुख्यमंत्री मनोहर लाल व सांसद राजकुमार सैनी हैं और इनकी जिम्मेदारी तय होनी चाहिए। इससे पहले समिति की बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि 12 अगस्त को भाईचारा सम्मेलन करने के बाद आंदोलन की घोषणा कर दी जाएगी। इससे पहले 21 जुलाई को पूरे प्रदेश में एक साथ जाट आरक्षण संघर्ष समिति की बैठकें होंगी। बैठक में जाटों ने कहा कि सरकार ही आंदोलन के लिए उकसा रही है, जिस तरह से सीबीआई निर्दोष लोगों को गिरफ्तार कर रही है, वह ठीक नहीं है और उसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।
समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष यशपाल मलिक ने कहा कि मुख्यमंत्री बनने की महत्वाकांक्षा में वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु और कृषि मंत्री ओपी धनखड़ ने यह पूरा षड‍्यंत्र रचा है और अब न्याय के लिए दोषी लोगों पर जिम्मेदारी तय होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि आपसी राजनीतिक लड़ाई के चलते बेवजह ही दूसरे लोगों पर आंदोलन का आरोप लगा रहे हैं।
समिति अध्यक्ष यशपाल मलिक ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को बर्खास्त करने की मांग की। साथ ही मलिक ने कहा कि जिस तरह से आज 1984 के सिख दंगों के मामले खुल रहे हैं, उसी तरह उन पर हमला करने वालों के मामले सामने आएंगे।
साथ ही बैठक में यह भी कहा गया कि अब जाट समाज किसी भी सूरत में पीछे नहीं हटेगा और न ही सरकार से किसी प्रकार की वार्ता की जाएगी। 21 जुलाई को प्रदेश के सभी जिलों में एक साथ बैठक करने के बाद आंदोलन की तैयारी शुरू कर दी जाएगी।

LEAVE A REPLY