इतिहास में पहली बार आधे वोट से जीता कोई नेता

It was a tough election, everyone worked together, party emerged stronger out of it: Ahmed Patel after winning

नई दिल्ली/अहमदाबाद: किसी भी चुनाव में एक-एक वोट बहुत कीमती होती है, शायद यही वजह है कि नेता एक-एक वोट पाने के लिए जी जान लगा देते हैं। कल रात्रि लगभग दो बजे गुजरात राज्य सभा चुनावों के परिणाम आये जिनमे तीन सीटों में दो पर भाजपा के अमित शाह और स्मृति ईरानी की जीत हुई जबकि एक सीट कांग्रेस के अहमद पटेल के खाते में गई। रात्रि भर ड्रामा चलता रहा। इस ड्रामे में भाजपा के कई मंत्री देर रात्रि तक चुनाव आयोग के दफ्तर के कई कई चक्कर लगाते देखे गए लेकिन उनकी एक भी नहीं चली और वोटों की गिनती शुरू हुई और अहमद पटेल जीत गए। अहमद पटेल की जीत ऐतिहासिक है क्यू कि उनकी जीत आधे वोट से हुई है। अब तक आधे वोट से शायद किसी भी चुनाव में किसी भी नेता की जीत नहीं हुई है। दो कांग्रेसी विधायकों के वोट रद्द होने के कारण ये आंकड़ा अजब-गजब हो गया।
कांग्रेसी विधायक भोला भाई, राघव भाई के वोट जब रद्द हुए तो जीत के लिए जरूरी आंकड़े में बदलाव हो गया। अब जीत के लिए 43.5 वोट चाहिए थे। जबकि, अहमद पटेल को 44 वोट मिले और वह 0.50 वोट से जीत गए। अहमद पटेल को जो 44 वोट मिले, उनमें कांग्रेस के 41, जेडीयू का एक, एनसीपी का एक और बीजेपी के बागी विधायक का एक वोट शामिल था। कांग्रेस के लिए दुःख की बात ये थी कि जिन 44 विधायकों को वो बेंगलुरु लेकर गई थी उनमे से भी कई भाजपा के पाले में चले गए और उसे सिर्फ 41 कांग्रेसी विधायकों ने ही वोट दिया। जीत तो जीत होती है अब कांग्रेस वो गम भूल गई होगी। देश भर में कांग्रेसी नेता अहमद पटेल की जीत का जैश मना रहे हैं भले ही वो जीत आधे वोट से हुई है।

loading...

Leave a Reply

*