अन्तर कॉलेज किकबॉक्सिंग प्रतियोगिता 15 से 16 फरवरी तक रोहतक में

0
130

फरीदाबाद! दिनांक 15 से 16 फरवरी तक महर्षि दयानन्द यूनिवर्सिटी, रोहतक में “अन्तर कॉलेज किकबॉक्सिंग प्रतियोगिता” का आयोजन किया जा रहा है. महर्षि दयानन्द यूनिवर्सिटी, रोहतक के खेल निदेशक डॉ दविंदर सिंह ढुल्ल ने बताया की दो दिनों तक होने वाली इस प्रतियोगिता में किकबॉक्सिंग खेल के सफल आयोजन के लिए सभी तैयारी पूरी कर ली गई है. इसमें पुरुष व महिला दोनों वर्गों में विभिन्न वजन वर्गों में प्रतियोगिता आयोजित की जा रही है. सफलता पूर्वक सञ्चालन के लिए तकीनीकी सहयोग के लिए ‘हरियाणा किकबॉक्सिंग संघ’ फरीदाबाद मुख्यालय से तकनिकी अधिकारीयों की मांग की गई है.

महर्षि दयानन्द यूनिवर्सिटी, रोहतक से इस प्रतियोगिता के आयोजन सचिव एवं ‘रोहतक जिला किकबॉक्सिंग संघ’ के सचिव श्री मनोज मालिक के अनुसार प्रतियोगिता के सफल सञ्चालन के लिए कुल 14 तकनिकी अधिकारी नियुक्त किये जा रहे हैं जिनमें फरीदाबाद से सचिन कुमार, अजय सैनी, रोहित कुमार, गौरव कुमार, अंजू शर्मा, सचिन गोला, झज्जर से जसवंत सिंह, कैथल से जितेंदर सिंह ढुल्ल, सोनीपत से सुधीर कुमार, जींद से नवीन सिहाग एवं प्रदीप सिंह, करनाल से अमरजीत लाठर, गुरुग्राम से सीमा सैनी, कुरुक्षेत्र से प्रवीण कुमार हैं.

‘हरियाणा किकबॉक्सिंग संघ’ के संस्थापक महासचिव एवं ‘वाको इण्डिया किकबॉक्सिंग फेडरेशन’ के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री संतोष कुमार अग्रवाल ने बताया की इस प्रतियोगिता इस खेल के शामिल होने से खिलाडियों में इसका रुझान काफी बढ़ा है, इसमें महर्षि दयानन्द यूनिवर्सिटी रोहतक से सम्बंधित सभी कॉलेज के खिलाडी खेल सकते हैं. इस प्रतियोहिता में किकबॉक्सिंग खेल के 4 इवेंट्स पॉइंट फाइट, किक लाइट, फुल कांटेक्ट एवं लो किक इवेंट्स को शामिल किया गया है. श्री अग्रवाल ने यह भी बताया की इस प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक हासिल करने वाले खिलाडी आगामी 8 से 11 मार्च 2019 आंध्र यूनिवर्सिटी, विशाखापट्टनम में आयोजित होने वाली “आल इण्डिया अन्तर यूनिवर्सिटी राष्ट्रीय किकबॉक्सिंग प्रतियोगिता” में भी भाग लेंगे.

अंतर्राष्ट्रीय रेफ़री एवं ‘वाको इण्डिया किकबॉक्सिंग फेडरेशन’ के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री संतोष कुमार अग्रवाल ने यह भी बताया की पिछले वर्ष 2017 में ही ‘वर्ल्ड एसोसिएशन ऑफ़ किकबॉक्सिंग ओर्गनइजेशन्स’ को ‘अंतर्राष्ट्रीय यूनिवर्सिटी स्पोर्ट्स फेडरेशन’ ने मान्यता दे दी है इसके बाद इसे “वर्ल्ड यूनिवर्सिटी खेलों” में भी शामिल कर लिया गया है.

LEAVE A REPLY