सड़क पर आई घर की लड़ाई, चकनाचूर हो सकता है चश्मा, OP चौटाला को पोते ने दिया बड़ा झटका

0
405

नई दिल्ली: अगले साल होने वाले विधान सभा चुनावों के पहले हरियाणा के मुख्य विपक्षी पास घरेलू कलह के कारण तास के पत्तों की तरह बिखरती जा रही है। घरेलू कलह अब घर से सड़क पर आ गई है जिसका कांग्रेस और भाजपा फायदा उठा सकतीं हैं। आज दोपहर हरियाणा में उस समय सनसनी फ़ैल गई जब इनेलो सुप्रीमों ओम प्रकाश चौटाला ने इनेलो के यूथ विंग इनसो को भंग कर दिया। अब आई.एन.एल.डी. सुप्रीमो ओम प्रकाश चौटाला को उनके ही पोते और इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय चौटाला ने बड़ा झटका दे दिया है। मीडिया से बात करते हुए दिग्विजय चौटाला ने इस फैसले को ना मानने के संकेत दिए हैं। दिग्विजय ने कहा कि इंडियन नेशनल स्टूडेंट ऑर्गेनाइजेशन (इनसो) का संविधान हमारी राजनीतिक इकाई इनेलो से अलग है।

इनसो को भंग करने या उसमें बदलाव करने का अधिकार केवल अजय सिंह चौटाला को है। अजय चौटाला के अलावा कोई भी इनसो को भंग नहीं कर सकता। दिग्विजय ने कहा कि अजय चौटाला फिलहाल जेल में हैं और उन्हें इसे लेकर उनकी तरफ से कोई भी संदश नहीं मिला है। दिग्विजय ने ये भी कहा कि जब तक उन्हें अजय चौटाला का संदेश नहीं मिल जाता तब तक इनसो एेसे ही बरकरार रहेगी। आपको बता दें कि अजय चौटाला दिग्विजय चौटाला के पिता हैं और जेबीटी भर्ती घोटाले के मामले में फिलहाल तिहाड़ जेल में बंद हैं।

LEAVE A REPLY