शरीर में विस्फोटक बांधते हैं आतंकी, इसलिए सेना ने उसके शव को घसीटा

0
341

नई दिल्ली: देश के कुछ विवादित समाजसेवी, वामपंथी और तथाकथित मानवाधिकार संगठनों के लोग अब हाल में वाइरल उसे तस्वीर पर सवाल उठा रहे हैं जिनमे सेना के जवान एक आतंकी के शव को घसीट रहे हैं। लगातार उठ रहे सवालों के बाद सेना के अधिकारी सामने आये हैं और ऐसे लोगों को आइना दिखाया है जो इस तस्वीर कर सवाल उठा रहे थे। भारतीय सेना की दक्षिण-पश्चिम कमांड के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल चेरिश मेथसन ने कहा कि आतंकियों के शवों को रस्सियों से बांधकर ले जाना सेना की एक प्रक्रिया थी, ताकि उनके शरीर से बंधे विस्फोटकों व ग्रेनेड में होने वाले विस्फोट के खतरे से बचा जा सके।

मेथसन ने कहा कि आतंकी अपने शरीर से विस्फोटक (आईईडी) व ग्रेनेड बांध लेते हैं। सैनिक जब उनके शवों को उठाते हैं तो उनके लिए हमेशा खतरा बना रहता है। उल्लेखनीय है कि भारतीय सैनिकों का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें वे कथित तौर पर जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी के शव को रस्सियों से बांध कर घसीट रहे हैं। कुछ लोगों ने इसे मानवाधिकार का उल्लंघन बताया। एक अनुमान के मुताबिक़ देश के आधा फीसदी से भी कम लोगों ने इन तस्वीरों पर सवाल उठाया था। अधिकाँश लोगों का कहना था सेना ने बहुत अच्छा किया है।

LEAVE A REPLY