यमुना में गन्दा पानी छोड़ती है दिल्ली सरकार, खट्टर ने जताई चिंता

0
287
Haryana CM In Narnaul

चण्डीगढ़, 14 मार्च- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने दिल्ली की ओर ओखला बैराज से यमुना नदी में हरियाणा को विशेष कर गुरुग्राम, फरीदाबाद, पलवल व नूंह जिलों को निरन्तर की जाने वाली अनुपचारित पानी की आपूर्ति के मुद्दे को दिल्ली सरकार के साथ उठाने के लिए कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री ओम प्रकाश धनखड़ की अध्यक्षता में इन जिलों के विधायकों की एक कमेटी गठित करने की घोषणा की है। उन्होंने कहा कि इन जिलों के सभी विधायक बजट सत्र के तुरंत बाद बैठक भी करेंगे।
मुख्यमंत्री, जो सदन के नेता भी ने यह घोषणा आज हरियाणा विधानसभा के चल रहे बजट सत्र के दौरान शून्य काल में इनेलो के जाकिर हुसैन व अन्य विधायकों द्वारा ओखला बैराज से दिल्ली की ओर से यमुना में लगातार गंदा पानी छोड़े जाने के उठाए गए मुददे पर की।

मुख्यमंत्री ने सदन को अवगत करवाया कि पानी का विषय एक गम्भीर चिंता का विषय होना स्वाभाविक है और लम्बे समय से पानी का यह मसला अन्तर-राज्यीय या स्थानीय स्तर पर चलता आ रहा है। पानी एक प्राकृतिक संसाधन है तथा नहरी पानी कृत्रिम तौर से पैदा तो नहीं किया जा सकता।
मुख्यमंत्री ने सदन को जानकारी दी कि यह कमेटी दिल्ली सरकार के साथ-साथ केन्द्र सरकार से भी बातचीत करेगी तथा दिल्ली की ओर से यमुना में केवल उपचारित पानी ही आए इसके लिए गंदे पानी की निकासी के लिए अलग से एक नाला यमुना के साथ-साथ बनाया जाए, इसकी सम्भावनाओं का भी पता लगाएगी। उत्तर प्रदेश की और से भी हरियाणा को यमुना से साफ पानी आए, इसके लिए उत्तर प्रदेश से भी बातचीत की जाएगी।

कमेटी के सदस्यों में गुरुग्राम जिले से सोहना के विधायक श्री तेजपाल तंवर, नूहं से विधायक जाकिर हुसैन, फिरोजपुर-झिरका से नसीम अहमद, पुन्हाना से रहीशा खान, पृथला से टेकचन्द्र शर्मा, बडख़ल से श्रीमती सीमा त्रिखा, होडल से उदयभान, फरीदाबाद से विपुल गोयल व एनआईटी से नगेन्द्र भडाना, बल्लभगढ़ से मुलचन्द शर्मा, तिगांव से ललित नागर, हथीन से केहर सिंह रावत व पलवल से विधायक करण सिंह दलाल शमिल होंगे।

LEAVE A REPLY