दुबई की कम्पनियाँ खोलेंगी हरियाणा में रिटेल स्टोर, जाने और क्या लाएंगे वहां से खट्टर

Haryana organised by Business Leaders Forum UAE in Dubai on December 6, 2017.

चंडीगढ़, 6 दिसंबर- हरियाणा सरकार ने अगले महीने एक उदार रिटेल पॉलिसी बनाने की योजना बनाई है, जिसमें प्रदेश में 24 घण्टे (24×7) स्टोर खोलने सहित विभिन्न प्रावधानो को शामिल किया जाएगा। मध्यम वर्गीय आबादी की बढ़ती संख्या और लोगों के उन्नत जीवन स्तर को देखते हुए हरियाणा में ऐसे स्टोरों की बड़ी संभावनाएं हैं।
मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कल दुबई में दुबई स्थित व्यापार जगत के दिग्गजों और विभिन्न समूहों के लीडरस के साथ बातचीत करते हुए यह जानकारी दी। इनमें लैंडमार्क ग्रुप, एनएमसी, अल माया ग्रुप, डिप्लोमैटस सम्मिट, यू.के., हाकन एग्रो और एनआईएफटीईएम शामिल हैं, जिन्होंने हरियाणा में निवेश लाने के लिए रिटेल चावल प्रसंस्करण, निर्यात, हैल्थ केयर जैसे क्षेत्रों में रूचि दिखाई है।

मुख्यमंत्री निवेशकों को आकर्षित करने के लिए दुबई में एक उच्चस्तरीय शिष्टमण्डल का नेतृत्व कर रहे हैं। दुबई में भारत के वाणिज्य दूतावास के कान्सुल जनरल श्री विपुल द्वारा हवाई अड्डे पर मुख्यमंत्री का स्वागत किया गया। शिष्टमण्डल में उद्योग मंत्री श्री विपुल गोयल, मुख्य सचिव श्री डी.एस. ढेसी और उद्योग सचिव श्री सुधीर राजपाल शामिल हैं।
मुख्यमंत्री ने लैंडमार्क ग्रुप के साथ उनकी बैठक में उनके कर्मचारियों को कुशल बनाने में सहायता करने की पेशकश की और कहा कि राज्य एक प्रशिक्षण कार्यक्रम के माध्यम से समूह को कर्मचारियों की आपूर्ति भी कर सकता है।
हरियाणा सरकार ने जनवरी महीने में लैंडमार्क ग्रुप के लिए एक खरीदार-सप्लायर की बैठक आयोजित करने की भी पेशकश की, जहां छोटे आपूर्तिकर्ता अपने उत्पादों का प्रदर्शन कर सकते हैं। श्री मनोहर लाल ने कहा कि इसके अतिरिक्त, राज्य सरकार की मदद से प्रमुख आपूर्तिकर्ताओं के साथ वन-टू-वन बैठक का भी प्रबन्ध किया जा सकता है।

लैंडमार्क ग्रुप संयुक्त अरब अमीरात (यू.ए.ई.) की दूसरी सबसे बड़ी नान-फूड रिटेल कम्पनी है। यह कम्पनी भारत में लाइफस्टाइल, मैक्स और स्पलैश जैसे प्रमुख रिटेल ब्रांडों का संचालन करती है। यह कम्पनी पहले ही गुडग़ांव में सोर्सिंग ऑफिस खोल चुकी है और आतिथ्य विभाग ने इसे होम सेंटर का नाम दिया है।
बैठक में एनएमसी, हैल्थ केयर ने पंचकूला में एक मेडि-सिटी स्थापित करने में भी अभिरूचि दिखाई। जिला रेवाड़ी, महेंद्रगढ़, फतेहाबाद, दादरी, सिरसा, पानीपत, कैथल जिलों में भी नये अस्पताल परियोजनाओं की संभावनाओं का पता लगाया जा सकता है।
एनएमसी यू.ए.ई. में 40 हैल्थ केयर सुविधाओं का और भारत में सात अस्पतालों का संचालन करती है, जिनमें से पांच का अधिग्रहण किया गया है और दो ग्रीनफील्ड हैं। वर्तमान गोल्डफील्ड कॉलेज और एसआरएस अस्पताल के अधिग्रहण की संभावनाओं को भी तलाशेगी।
अल माया ग्रुप के ग्रुप निदेशक श्री कमल वचानी ने हरियाणा से दुबई में निर्यात बढ़ाने सम्बंधी मामलों पर विचार-विमर्श किया। जीसीसी के लिए भारत प्रमुख निर्यातकों में से एक है, जिसका कुल निर्यात का लगभग 30 फीसदी हिस्सा है।

बैठक में हैफेड के विभिन्न उत्पादों के लिए ब्रांड हरियाणा फ्रैश संभावनाओं की तलाश के दृष्टिगत इनके उत्पादों को अल माया ग्रुप के सुपर बाजारों के माध्यम से बिक्री करने का भी आकलन किया गया। श्री वचानी ने सुझाव दिया कि वह हरियाणा के छोटे निर्माताओं से सोर्सिंग उत्पादों की संभावना तलाशने के लिए वे यू.ए.ई. से हरियाणा के लिए निर्यातकों के एक शिष्टमण्डल का नेतृत्व करेंगे।
ब्रिटेन के डिप्लोमेट्स शिखर सम्मेलन के श्री शैलेश नाथन ने मुख्यमंत्री से मुलाकात की और कहा कि उनका समूह यूरोप और मध्य पूर्व से भारत में निवेश के लिए सक्रिय रूप से कार्य कर रहा है और हरियाणा के लिए इस तरह के कई प्रस्ताव किए जा सकते हैं।

मुख्यमंत्री ने उन्हें हरियाणा में निवेश के विशाल अवसरों के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि राज्य में उद्योग के लिए अपनी परियोजना स्थापित करने के लिए भूमि बैंक उपलब्ध है। हरियाणा में आने वाले किसी भी उद्यम को हरियाणा एंटरप्राइजेज प्रमोशन सेंटर (एचईपीसी) के माध्यम से अपनी परियोजनाओं को स्थापित करने के लिए 45 दिनों के भीतर सभी स्वीकृतियां प्रदान कर दी जाएंगी।
बैठक में श्री सुधाकर तोमर, हाकन एग्रो ने मुख्यमंत्री के साथ अपनी बैठक में भारत से चावल प्रसंस्करण और निर्यात सम्बन्धी मुद्दों पर चर्चा की। उन्होंने राज्य से सोर्सिंग उत्पादों, कच्चे माल की और जीसीसी देशों में ऐसे उत्पादों के विपणन की संभावनाओं की तलाश के लिए भारत के मध्य पूर्व कृषि व्यापार मंच से खाद्य प्रोसेसरस के एक शिष्टमण्डल का नेतृत्व करने की भी पेशकश की।

एनआईएफटीईएम के साथ विचार-विमर्श के दौरान श्री मनोहर लाल ने हरियाणा में उपलब्ध कच्चे माल पर आधारित विपणन योग्य उत्पादों की पहचान करने की आवश्यकता महसूस की। यह भी महसूस किया गया कि हरियाणा में मध्य पूर्व और निर्माताओं आधारित बाजारों के बीच बेहतर प्रबन्धन के लिए एक खरीददार-विक्रेता बैठक का भी आयोजन किया जा सकता है।
बाद में दोपहर बाद मुख्यमंत्री ने यू.ए.ई. में लगभग 70 शीर्ष निवेशकों की एक बैठक को भी सम्बोधित किया। उन्होंने उनसे हरियाणा में निवेश करने का आग्रह किया और उन्हें राज्य सरकार के पूरे सहयोग का विश्वास दिलाया।
इस अवसर पर उद्योग मंत्री, श्री विपुल गोयल और मुख्य सचिव श्री डी.एस.ढेसी ने भी बैठक को सम्बोधित किया। उद्योग विभाग के प्रमुख सचिव, श्री सुधीर राजपाल ने राज्य द्वारा पेशकश की गई क्षमताओं और अवसरों को दर्शाती हरियाणा पर एक विस्तृत प्रस्तुति भी दी।

loading...

Leave a Reply

*