हुड्डा बोले, न विकास न रोजगार, भ्रष्टाचार व इवेंट की है सरकार, भ्रष्टाचार के मामले में सरकार का हाजमा भी बडा तेज

0
101
Haryana Ex CM Bhupinder Hooda Attack on BJP Govt

रोहतक, 12 जनवरी। गढ़ी सांपला किलोई हलके के कुल्ताना, गढ़ी सांपला, नया बांस, भैंसरू खुर्द, भैंसरू कलां, हसनगढ़, समचाना और मोरखेड़ी गांवों में जनसभाओं के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा का जोरदार स्वागत हुआ और भूपेन्द्र सिंह हुड्डा तुम आगे बढो हम तुम्हारे साथ है के नारो से गांव गूंज उठे। कहीं ढोल नगाडो से और कई फूल मालाओं से ग्रामीणों ने पूर्व सीएम का जोरदार स्वागत किया। जनसभाओं में महिलाओं ने बढचढ कर भाग लिया और पूर्व सीएम को आशिर्वाद दिया। ग्रामीणों से सीधा संवाद करते हुए भूपेन्द्र हुड्डा ने कहा कि अब भाजपा कुछ दिन की ही सरकार बची है, जिस तरह से भाजपा ने प्रदेश को जलवाने का काम किया है, जनता उसे कभी माफ नहीं करेगी।
उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार के मामले में तो भाजपा का हाजमा इतना तेज है कि सबकुछ हजम कर दिया, चाहे बिजली हो, पत्थर हो, लोहा व लकडी हो। सरकार ने भ्रष्टाचार में रिकार्ड कायम किया है। साढे तीन साल के शासनकाल के दौरान न विकास और न ही रोजगार है। भाजपा पूरी तरह से इंवेट व भ्रष्टाचार की सरकार है। आज भी सरकार उन्हीं विकास कार्यो का फीता काट रही है जो कांग्रेस शासनकाल के दौरान शुरू किए गए थे।

पूर्व मुख्यमंत्री ने यहां तक प्रदेश की जनता सरकार से जबाव मांग रही है कि साढे तीन साल के दौरान धरातल पर क्या काम किए है। उन्होंने कहा कि भाषण व अधिकारियों के तबादलों से काम नहीं चलेगा। अब तो सरकार को समझ आ जानी चाहिए कि प्रदेश की जनता किस तरह बेहाल है। पूर्व सीएम हुड्डा गढी सांपला किलोई हल्के के गांवों में जनसभाओं को संबोधित कर रहे थे। हुड्डा ने इस दौरान ग्रामीणों से सीधा संवाद किया और उनका हालचाल पूछा। हर गांव में कही बिजली की समस्या तो कही खाद को लेकर ग्रामीणों ने पूर्व सीएम के आगे सरकार का दुखडा रोया।

उन्होंने कहा कि आज स्थिति यह है कि सरकार अपने हिस्से की बिजली तक सरेंडर कर रही है, जिससे उपभोक्ताओं को दोहरी मार पड रही है। बिजली व विकास कार्यो को लेकर आज प्रदेश की जनता कांग्रेस शासनकाल को याद कर रही है। अब वह दिन दूर नहीं जब भाजपा के कुशासन से प्रदेश को मुक्ति मिलेगी। हुड्डा ने कहा कि आज बहन बेटियों का घर से निकलना दुर्भर हो गया है। रात की तो बात दूर दिन में भी महिलाओं को घर से निकलने में असुरक्षित महसूस होता है। भूपेन्द्र हुड्डा ने कहा कि यूपीए शासनकाल के दौरान किसानों के हित को देखते हुए एफडीआई लागू करने की योजना बनाई गई थी। उस समय भाजपा के नेता व मौजूदा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी विरोध करते हुए नजर आए थे और किसी भी कीमत पर एफडीआई ना लागू होने के बयान देते थे, लेकिन आज उसी एफडीआई को लागू किया जा रहा है। इससे साफ जाहिर है कि भाजपा की किसी भी योजना को लेकर कोई भी नीति स्पष्ट नहीं है। प्रदेश और केंद्र दोनों की सरकार हर मुद्दे पर विफल साबित हो रही है।

LEAVE A REPLY