हरियाणा के बदमाशों ने बदला अपराध करने का तरीका, निपटने के लिए ट्रेनिंग ले रही है पुलिस

0
417
Haryana ADGP News

चंडीगढ़ 7 अगस्त: हर्षित सैनी: अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक हरियाणा श्री मौहम्मद अकील ने कल रोहतक शहर का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने जिला पुलिस के अधिकारियों के साथ बैठक कर अपराध, महिला विरुद्ध अपराध, कानून व्यवस्था, वीआईपी सुरक्षा जैसे अहम मुद्दों पर चर्चा की तथा आवश्यक दिशा-निर्देश दिए है। बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री पंकज नैन, जिला में तैनात सभी उप पुलिस अधीक्षक, प्रभारी थाना, प्रभारी सीआईए व प्रभारी एंटी व्हीक्ल थैफ्ट मौजूद थे।
एडीजीपी मौहम्मद अकील ने बताया कि वह समय-2 पर जिला में जाकर जिला पुलिस के साथ संवाद स्थापित कर कानून व्यवस्था को समीक्षा करते है। प्रभारी थाना स्तर के पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक कर दिशा-निर्देश जारी करते है। समस्याएं सुनते है तथा समाधान करते है। सरकार और समाज की प्राथमिकताएं पर खरा उतरने के लिए पुलिस फोर्स को तैयार करते है। इसी उद्धेश्य के साथ आज रोहतक पुलिस के अधिकारियो के साथ बैठक की गई है। जिस प्रकार समाज का स्तर उपर उठ रहा है उसी प्रकार से पुलिस की कार्यप्रणाली का भी स्तर ऊंचा हो। अपराधियो के अपराध करने के तरीके में समय-2 पर बदलाव आ रहा है। पुलिस अधिकारियो के साथ चर्चा की गई है। प्रत्येक जवान को अपराध के नए तरीकों को ध्यान में रखते हुए ट्रैनिंग दी जा रही है, अवगत कराया जा रहा ताकि अपराधियो को काबू किया जा सके। पुलिस मुख्यालय द्वारा जारी दिशा-निर्देशों को मूल स्तर तक पहुँचाने का प्रयास किया जा रहा है ताकि प्रत्येक सिपाही तक को पता हो कि क्या ड्यूटी करनी है किस प्रकार ड्यूटी करनी है?
एडीजीपी मोहम्मद अकील ने बताया कि  रोहतक पुलिस के साथ मुख्य रुप से गंभीर मुद्दों पर विचार-विमर्श करते हुए दिशा निर्देश जारी किए गए है।
1. छीना-छपटी, लूट डकैती, चोरी, वाहन चोरी व अन्य सम्पति विरुद्ध अपराध।
2. अवैध हथियारों बारे, गोली चलाने वाले गंभीर मामलों बारे।
3. महिला विरुद्ध अपराध के गंभीर मामलें बारे खासकर बलात्कार।
4. कानून व्यवस्था ड्यूटी।
5. वीआईपी सुरक्षा व्यवस्था।

अपराध की रोकथाम के हर संभव प्रयास करे। जिला पुलिस के पास मौजूद सभी संसाधनों का सही तरीके से प्रयोग करे। अगर किसी स्थिती में इस प्रकार की घटना हो जाती है तो पुलिस के पास मौजूद सभी संसाधनो का प्रयोग करते हुए मामलों को तुरंत हल करने का प्रयास करे। सरकार समाज व पुलिस सभी का उद्देश्य है कि कम से कम अपराध हो। अपराधमुक्त समाज बने। समाज, प्रदेश, देश का विकास हो। इसी कड़ी में सरकार द्वारा छीना-छपटी के मामलों में पुख्ता सूचना देने पर एक लाख रुपये का ईनाम देने की घोषणा की गई है। रोहतक जिले से इस प्रकार के कई मामले प्राप्त हुए है जो सभी को मंजूर दे दी गई है। जितने भी मामलें पुलिस मुख्यालय में प्राप्त होगे सभी को मंजूर किया जाएगे। अपराध को कम करने के लिए, अपराधियों को जेल की सलाखों के पीछे डालने के लिए हरियाणा पुलिस हर संभव प्रयास कर रही है।
महिला विरुद्ध अपराधों को गंभीरता से सुलझाने का प्रयास करे। बलात्कार के संवेदनात्मक मामलों को रोकने के लिए निरंतर गस्त करे। पुलिस बल की दृश्यता बढ़ाए। नाकों पर सख्त चैकिंग की जाए। अपराधियों पर तकनीकी निगरानी रखे। इस प्रकार के अपराध को किसी भी सूरत में घटित ना होने दे। ऐसे मामलों मे तफतीश भी उच्च स्तर की करे ताकि पीड़ित को न्याय व अपराधी को ज्यादा से ज्यादा सजा मिल सके।
कानून व्यवस्था की स्थिती पर पैनी नजर रखे। चुनाव के नजदीक विभिन्न राजनैतिक पार्टी अलग-2 तरह से अपना प्रचार-प्रसार करती है। प्रदर्शन के नए-2 तरीके अपनाए जा रहे है। कोई अप्रिय घटना घटने पर भी कानून व्यवस्था को कायम करने की विकट स्थिती उत्पन्न हो जाती है। इस प्रकार के सभी मामलों पर विचार-विर्मश किया गया। ऐसी स्थिती में तुरंत कार्यवाही करे। शांति व कानून व्यवस्था कायम रखते हुए स्थिती को नियंत्रित करे। प्रभावी कदम उठाए जाए जिससे आमजन को कम से कम असुविधा हो। हरियाणा पुलिस की तरफ से आमजन से अनुरोध है कि लोकतांत्रिक प्रणाली में कानून व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए अपना विरोध-प्रदर्शन करे। किसी भी स्थिती में हिंसा ना होने दे। शांति व कानून व्यवस्था कायम रखने में पुलिस का सहयोग करे।
रोहतक जिला प्रदेश की राजनैतिक राजधानी है। राजनेताओं व अन्य महत्वपूर्ण लोगो का आना-जाना लगा रहता है। लोकतात्रिक व्यवस्था को सम्मान देते हुए वीआईपी लोगो को उचित सुरक्षा मुहैया कराई जाए। योजनाबद्ध तरीके से सुरक्षा व्यवस्था की जाए ताकि आमजन को कोई परेशानी ना हो।

LEAVE A REPLY